संवाद सूत्र, मिरहची: थाना क्षेत्र में एचटी लाइन का नीचे लटक रहा तार सिर में छूने से प्राथमिक विद्यालय की नवनिर्मित बाउंड्रीवाल पर पानी डाल रहे ननिहाल आए फिरोजाबाद जनपद के युवक को करंट लग गया। अचेत हुए युवक को मेडिकल कालेज लाया गया, जहां डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। ग्राम प्रधान ने विद्युत विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

सोमवार दोपहर ग्राम सींय में प्राथमिक विद्यालय के बाउंड्रीवाल का निर्माण कार्य चल रहा था। ग्राम प्रधान नगला कन्हई निवासी हरवेंद्र सिंह ने फिरोजाबाद जनपद के जसराना थाना क्षेत्र के ग्राम नगला मिलिक निवासी 25 वर्षीय भांजे विकास कुमार को बाउंड्रीवाल की देखरेख के लिए भेज दिया। वह विद्यालय पहुंचकर नवनिर्मित बाउंड्रीवाल पर चढ़कर पानी डालने लगे। तभी नीचे झूल रहे हाइटेंशन लाइन का तार उनके सिर से छू गया। करंट लगते ही वह नीचे आ गिरे और अचेत हो गए। 

निर्माण कार्य में लगे मजदूरों ने हादसे की सूचना प्रधान को दी। जिस पर प्रधान व अन्य स्वजन मौके पर पहुंच गए। करंट से अचेत हुए विकास को मेडिकल कालेज लाया गया, जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। इधर जैसे ही करंट से विकास की मृत्यु की सूचना गांव में परिवार के लोगों को मिली तो उनमें कोहराम मच गया। रोते-बिलखते स्वजन पोस्टमार्टम गृह पहुंच गए।

प्रधान का कहना है कि प्राथमिक विद्यालय के समीप से गुजर रही एचटी लाइन के तार नीचे झूल रहे हैं। कई बार विद्युत लाइन दुरुस्त कराए जाने की कई बार विभागीय अधिकारियों से लिखित शिकायत भी की जा चुकी है। बावजूद इसके विभागीय अधिकारियों द्वारा कोई सुनवाई नहीं की गई। उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों पर लापरवाही का आरोप लगाया है। 

उपनिरीक्षक जवाहर सिंह धाकरे ने बताया कि लापरवाही के संबंध में प्रधान व अन्य किसी स्वजन की ओर से पुलिस को अभी कोई तहरीर नहीं दी गई है। तहरीर मिलने पर रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

पांच दिन पूर्व आए थे ननिहाल

पोस्टमार्टम गृह पर मौजूद प्रधान हरवेंद्र सिंह ने बताया कि भांजे को गांव आए पांच दिन हुए थे। वह अधिकांश समय ननिहाल में ही रहे हैं। उनके बहनोई यशवीर सिंह भी पैरालाइसिस से परेशान हैं। वह कोई काम भी नहीं कर पाते हैं। पूरे परिवार के भरण पोषण की जिम्मेदारी उनके भांजे के ऊपर थी।

इकलौते थे विकास

हाइटेंशन करंट की चपेट में आए विकास इकलौते पुत्र थे। सात माह पूर्व उनकी शादी फिरोजाबाद जनपद के फरिहा थाना क्षेत्र के ग्राम गढ़िया की डौली के साथ हुई थी। पति की मृत्यु होने की खबर मिलने के बाद से ही वह अपनी सुधबुध खो बैठी है। पिता का भी रो-रोकर बुरा हाल है। विकास ही उनके बुढापे का सहारा था।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट