एटा, जागरण संवाददाता। थाना सकीट क्षेत्र के गांव कर्मचंदपुर में खेत पर धान निकालने जा रहे किसान की रास्ते में घेरकर धारदार हथियार का प्रहार और गोली मार हत्या कर दी गई। इसके बाद आरोपित उसके शव को सरसों के खेत में फेंक कर फरार हो गए। इसकी रिपोर्ट मृतक के बेटे ने दस लोगों के खिलाफ थाना सकीट में दर्ज कराई है। सूचना मिलने के बाद एएसपी सहित कई थानों का पुलिस बल मौके पर पहुंच गया था। पुलिस हत्यारोपितों को पकड़ने का प्रयास कर रही है।

थाना सकीट क्षेत्र के गांव कर्मचंदपुर निवासी 50 वर्षीय रामपाल का गांव से डेढ़ किलोमीटर दूर खेत है। जिसमें उसने धान की फसल तैयार की थी। शनिवार सुबह को वह घर से धान निकालने के लिए खेत पर जा रहा था। उसी समय सकीट कूल्हा रोड समीप खेतों में उसे आरोपितों ने घेर लिया। जहां उसके साथ लाठी-डंडे से मारपीट करते हुए उस पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। इसके बाद उसकी गोली मार हत्या कर दी। बाद में आरोपित उसके शव को सरसों के खेत में डालकर फरार हो गए। 

रोते बिलखते पहुंचे स्वजन

खेत में शव पड़े होने की जानकारी मिलते ही स्वजन रोते बिलखते हुए मौके पर पहुंच गए और घटना से पुलिस को अवगत कराया। सूचना मिलते ही एएसपी धनंजय सिंह कुशवाह के अलावा सकीट, रिजोर, मलावन आदि थानों का पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। जहां से पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। 

वहीं रिपोर्ट मृतक के बेटे अजय कुमार ने थाना सकीट में प्रधान पति सुधीर, सुभाष, चरनसिंह, चंदन, दिनेश चंद्र, रामसनेही, पुष्पेन्द्र, दुर्वेश, मेघसिंह और विजेन्द्र के खिलाफ दर्ज कराई है। जिसमें मृतक के बेटे ने जमीनी और प्रधानी चुनाव की रंजिश के कारण हत्या करने का आरोप लगाया है। एएसपी क्राइम विनोद कुमार पांडेय ने बताया कि हत्याकांड के आरोपितों को पकड़ने के लिए पुलिस टीम बनाई गई है। जांच कर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

डाग स्क्वायड टीम ने जुटाए साक्ष्य

सकीट क्षेत्र में हुई हत्या के बाद पुलिस प्रशासन के अधिकारियों ने घटना से जुड़े साक्ष्य जुटाने के लिए फील्ड यूनिट टीम के साथ ही डाग स्क्वायड को भी मौके पर भेजा। जहां दोनों टीमों ने पहुंचकर घटना से जुड़े कई अहम सुराग जुटाए हैं। जिनके आधार पर पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट