जासं, एटा: शनिवार को बीएसए संजय सिंह ने निधौलीकलां, जलेसर तथा अवागढ़ विकास खंड के डेढ़ दर्जन स्कूलों का निरीक्षण किया। इस दौरान आधा दर्जन विद्यालय बंद पाए गए। वहीं कई स्थानों पर अनियमितताएं भी मिलीं। बंद मिले स्कूलों के शिक्षकों का वेतन रोका गया है। दूसरी ओर अनुपस्थितों का वेतन काटने के निर्देश दिए हैं।

बीएसए ने सुबह 8.15 पर प्राथमिक विद्यालय प्रथम व द्वितीय खेड़ा को बंद पाया। वहीं 8.25 पर प्राथमिक विद्यालय निजामपुर, 8.35 पर प्राथमिक विद्यालय नगला माधव, 9.10 पर प्राथमिक विद्यालय महकी कलां भी बंद पाया। वेतन रोकने के साथ प्रधानाध्यापकों को कारण बताओ नोटिस दिया गया है। उच्च प्राथमिक स्कूल नारऊ वीरनगर पर प्रधानाध्यापक महावीर सिंह उपस्थित तथा सहायक अध्यापक राजेश कश्यप, पूरन सिंह, अनुदेशक हृदय प्रताप व मालती अनुपस्थित मिले। प्राथमिक विद्यालय वीरनगर नारऊ में शिक्षामित्र उदेश सिंह गैर हाजिर थे। जलेसर क्षेत्र के गुदाऊ प्राथमिक विद्यालय में शिक्षिका रंजना गुप्ता, प्रीति सोलंकी गायब मिलीं तथा कायाकल्प कार्य भी संतोषजनक नहीं था। प्राथमिक विद्यालय दौलतपुर अवागढ़ में कायाकल्प के कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिए। प्राथमिक विद्यालय नगला बीरी के निरीक्षण के समय शिक्षक रूपेंद्र प्रताप, शिक्षामित्र प्रवेश अनुपस्थित थीं। जूनियर हाईस्कूल नगला बीरी में प्रधानाध्यापक को जलभराव समाप्त करने को व्यवस्था के लिए कहा। प्राथमिक विद्यालय पधौरा में कंपोजिट ग्रांट से कार्य पूर्ण न मिलने पर प्रधानाध्यापक को नोटिस दिया। रनौसा प्राथमिक स्कूल में सुधीर प्रताप, रेखा सिंह गैर हाजिर थे। जूनियर हाईस्कूल मनीगढ़ी, प्राथमिक विद्यालय मनीगढ़ी तथा नगला उदना के प्राथमिक विद्यालय में कायाकल्प तथा अन्य अव्यवस्थाओं पर प्रधानाध्यापकों को निर्देश दिए गए हैं। जूनियर हाईस्कूल मनीगढ़ी में प्रधानाध्यापक अजय कुमार तथा चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी ओमकार अनुपस्थित मिले। गैर हाजिर कर्मियों का एक दिन का वेतन व मानदेय काटने के निर्देश दिए हैं। निरीक्षण के दौरान जिला समन्वयक संजय मिश्रा भी साथ रहे।

Edited By: Jagran