निज प्रतिनिधि, कासगंज (एटा) : पुलिस ने जनता के बीच ऐसा हौवा पैदा किया है कि लोग नगर में प्रवेश करते ही सहम से जाते है। पुलिसकर्मी कुछ इस तरह पूछताछ करते हैं कि जैसे मानो राहगीर ने कोई बड़ा जुर्म कर दिया हो, लेकिन जब व्यवस्थाओं की बात आती है तो डग्गेमार वाहन चालक पुलिस की व्यवस्थाओं की बखिया उधेड़ते नजर आते हैं।

पुलिस ने जाम के झाम से मुक्ति दिलाए जाने के लिए नो एंट्री व्यवस्था लागू की है। कासगंज-एटा मार्ग के डग्गेमार वाहनों का स्टैंड बांकनेर के समीप और कासगंज-सोरों-सहावर के अस्थायी स्टैण्ड बारह पत्थर मैदान के समीप बनाए गए हैं। चेतावनी दी गई है कि यदि वाहनों का नगर में प्रवेश हुआ तो मोटर व्हीकल एक्ट के तहत सीज कर दिया जाएगा।

इसके अलावा के सोरों गेट, सहावर गेट, नदरई एवं बिलराम गेट पर नो एंट्री व्यवस्था लागू की गई है। पर्वो के दौरान मोटर साइकल और रिक्शों पर भी रोक रहती है और चार पहिया वाहनों की एंट्री बाजारों में पूरी तरह प्रतिबंधित की गई है, सिर्फ उन्हीं वाहनों का बाजार में प्रवेश वर्जित है, जिनके पास पुलिस द्वारा जारी किए गए पास मौजूद हैं। शुरूआत में तो यह व्यवस्थाएं लागू हुई और जाम के झाम से मुक्ति मिली, लेकिन ज्यों ही समय व्यतीत होता जा रहा है। पुलिस की व्यवस्थाओं की बखिया उधड़ती जा रही है।

डग्गेमार वाहन चालक नगर में वाहनों का प्रवेश करा रहे हैं। विभिन्न चौराहों से सवारियां भी बिठाई जा रही हैं और पुलिस की नजर डग्गेमार वाहन चालकों की मनमानी की ओर नहीं है। यातायात प्रभारी मिलाप सिंह के मुताबिक डग्गेमार वाहनों के प्रवेश पर रोक है जो चालक मनमानी करेंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर