देवरिया: उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग द्वारा देवरिया डिपो में नेत्र परीक्षण किया गया। गोरखपुर के एक निजी अस्पताल से आए नेत्र चिकित्सकों की टीम ने 50 बस चालक समेत कुल 80 कर्मचारियों की आंखों की जांच की। इसमें कुछ की आंख में गड़बड़ी मिलने पर दवा लेने की सलाह दी।

एआरएम आरबी विश्वकर्मा ने कहा कि हर साल चालकों व परिचालकों की आंख व अन्य स्वास्थ्य की जांच की जाती है। ताकि बस लेकर चलने वाले कर्मचारी को स्वास्थ्य से संबंधित दिक्कत हो तो उसको गाड़ी देने में परहेज किया जाए और उपचार कराने के बाद ही उसे गाड़ी दी जाए। जांच के दौरान किसी की आंख में खास दिक्कत नहीं दिखी। कुछ हल्की दिक्कत है तो उन्हें चिकित्सक ने दवा दी है। डिपो प्रभारी सुनील सिंह, अवधेश लाल श्रीवास्तव, दीनानाथ मिश्र समेत अन्य कर्मचारी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस