देवरिया: शहर से सटे रुद्रपुर रोड पर लक्ष्मी नारायण मंदिर के समीप सराफा की दुकान से हुई 32 लाख रुपये के आभूषण की लूट के मामले में तीन दिन गुजर जाने के बाद भी जिले की एसओजी व कोतवाली पुलिस खाली हाथ है। पुलिस कई क्षेत्रीय बदमाशों के मोबाइल लोकेशन व काल डिटेल भी पुलिस खंगाल रही है। तीन दिनों से हवा में तीर चला रही पुलिस जल्द ही इस घटना का पर्दाफाश कर देने का दावा कर रही है।

शहर के रुद्रपुर रोड पर पर सराफा व्यवसायी सूरज वर्मा की दुकान हैं। तीन दिन पहले दो बदमाश पहुंचे और 32 लाख रुपये का आभूषण लूट कर फरार हो गए। इस घटना के पर्दाफाश के लिए सीओ सिटी श्रीयश त्रिपाठी के नेतृत्व में एसओजी व कोतवाली पुलिस को लगाया गया है। सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस ने खंगाला, लेकिन बदमाशों के चेहरे स्पष्ट फुटेज में न होने के चलते पुलिस को कोई सफलता नहीं मिल पा रही है। अब पुलिस सर्विलांस की मदद ले रही है और क्षेत्रीय कुछ बदमाशों का काल डिटेल निकालने के साथ ही उनका लोकेशन भी ट्रेस कर रही है। ताकि यह मालूम चल सके कि यहां आने वाले बदमाश कौन है? फिलहाल तीन दिन गुजर जाने के बाद भी पुलिस को कोई अहम सुराग हाथ नहीं लग सका है। पुलिस ने शुक्रवार को कुछ व्यापारियों से भी जानकारी ली और उनका बयान दर्ज किया। सीओ सिटी श्रीयश त्रिपाठी ने बताया कि टीमें लगी है। जल्द ही कुछ सफलता मिल सकती है। घटना के पर्दाफाश की सराफा व्यवसायियों ने की मांग

राष्ट्रीय स्वर्णकार मंच के प्रदेश अध्यक्ष ऋषि मोहन वर्मा के नेतृत्व में पदाधिकारी सूरज वर्मा की दुकान पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली। साथ ही पुलिस प्रशासन से घटना का जल्द से जल्द पर्दाफाश करने की मांग की। इस दौरान मंडल महासचिव आशीष वर्मा, बृजेश वर्मा, बैजनाथ सोनी, दीपक वर्मा, बांसुदेव वर्मा, अनूप भारती मौजूद रहे।

Edited By: Jagran