देवरिया: सीआइबी व रेलवे सुरक्षा बल ने शुक्रवार को संयुक्त छापेमारी कर टिकट धंधेबाज को गिरफ्तार किया। उसके पास से ई-टिकट, उपकरण व रुपये बरामद किए गए। गिरफ्तार युवक बरहज के हरनौठा गांव का रहने वाला है। उसके खिलाफ रेलवे सुरक्षा बल पोस्ट पर मुकदमा दर्जकर वाराणसी जेल भेज दिया गया।

सीआइबी भटनी के प्रभारी व रेलवे सुरक्षा बल भटनी को सूचना मिली कि बरहज थाना क्षेत्र के हरनौठा चौराहे पर अंकित कम्प्यूटर नामक दुकान के संचालक रतन तिवारी आइआरसीटीसी का फर्जी आइडी बनाकर रेलवे ई-टिकट बुककर अवैध रूप से कारोबार कर रहा है। सूचना पर टीम ने छापेमारी की और संचालक रतन तिवारी को गिरफ्तार कर लिया। उसके मोबाइल व लैपटाप की जांच करने पर आइआरसीटीसी के आइडी से दस टिकट बुक करने की पुष्टि हुई। साथ ही ई-टिकट बरामद हुआ। जिसकी कीमत 8415 रुपये था। इसके अलावा टिकट बनाने में प्रयुक्त लैपटाप, नकदी 380 रुपये व दो मोबाइल जब्त किया गया। आरपीएफ के मुताबिक, प्रति टिकट वह 200 से 400 रुपये कमाता था। टीम में सीआइबी प्रभारी अरविद यादव, सहायक उपनिरीक्षक दिलीप कुमार सिंह, सुनील यादव, अमित सिंह, उपनिरीक्षक संजय कुमार राय, सहायक उपनिरीक्षक मिथिलेश शुक्ल, प्रताप सिंह, सहायक उपनिरीक्षक राजाराम पाण्डेय, वीरेंद्र यादव, आलोक सिंह शामिल रहे। करंट लगने से एक की मौत, दो झुलसे

देवरिया: मईल थाना क्षेत्र के स्थानीय गांव मे स्नान करके कपड़ा रेगनी पर फैलाने वक्त करंट की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। उसे बचाने गई बहु व पोता भी करंट की चपेट में आने से झुलस गए। घायलों को इलाज के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भागलपुर पहुंचाया गया। जहां राम अशीष को मौत हो गई।

शुक्रवार की देर शाम मईल गांव निवासी राम अशीष पांडेय घर के बाहर स्नान करके अपने गीले कपड़े को दरवाजे पर बंधी रेगनी पर गीले कपड़ें फैला रहे थे। उसी समय नंगे तार की रेगनी में करंट आने से वह उसके चपेट में आ गये। यह देख उनकी बहु मीना पांडेय छुड़ाने के लिए दौड़ीं। वह भी करंट की चपेट में आ गईं। वहीं पोता जयप्रकाश भी बचाने दौड़ा तो वो भी चपेट मे आ गया। यह देख आसपास के लोगों ने दौड़कर सूखे डंडे से तार पर मारकर कनेक्शन काटा। भूमि विवाद में 18 लोगों पर बलवा का मुकदमा

देवरिया: भटनी थाना क्षेत्र के ग्राम डेमुसा के पांडेय टोला में भूमि विवाद को लेकर हुई मारपीट के मामले में दूसरे पक्ष की तहरीर पर 18 लोगों के खिलाफ बलवा व मारपीट का मुकदमा पुलिस ने दर्ज किया है। आठ जून को बलभद्र यादव व बजरंगी पांडेय के बीच जमीनी विवाद को लेकर मारपीट हो गई। दूसरे पक्ष के बलभद्र यादव पुत्र स्व. जमुना यादव ग्राम डेमुसा के पांडेय टोला के रहने वाले हैं। उन्होंने भटनी थाने मे तहरीर दी है। जिसमे लिखा है कि जमीनी विवाद को लेकर मेरे ही गांव के बजरंगी पांडेय, योगेंद्र पांडेय, संतोष पांडेय, सत्यप्रकाश पांडेय, राकेश पांडेय, ध्रुपदेव पांडेय, लखदेव पांडेय, कपिलदेव पांडेय, बजरंगी पांडेय, घनश्याम पांडेय, किशन पांडेय, निखिल पांडेय प्रवीण पांडेय उर्फ गोलू पांडेय, संतबली यादव, अंगद यादव, सुदामा यादव, विनोद यादव व सत्येन्द्र यादव एक राय होकर गाली गुप्ता देते हुए दरवाजा तोड़कर घर मे घुसकर लाठी डंडा से मारपीट कर घायल कर दिए। प्रथम पक्ष के योगेन्द्र पांडेय पुत्र बजरंगी पांडेय की तहरीर पर पुलिस ने दूसरे पक्ष के बलभद्र यादव सहित 34 लोगों के खिलाफ बलवा सहित कई धाराओं में घटना की रात ही मुकदमा दर्ज कर चुकी है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप