देवरिया: उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ठकुराई गुट के प्रदेश अध्यक्ष जगदीश पांडेय ने कहा कि शिक्षा के निजीकरण से शिक्षकों का भविष्य अधर में है। सरकार के द्वारा जो राष्ट्रीय शिक्षा नीति बनाई जा रही है, उसमें 80 फीसद सरकारी तथा निजी विद्यालय बंद हो जाएंगे। प्राथमिक से लेकर माध्यमिक तक के सभी विद्यालयों का संचालन सरकारी इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य करेंगे। इसका पुरजोर विरोध होना चाहिए ।

पांडेय बुधवार को रामपुर कारखाना के अशोक इंटरमीडिएट कॉलेज डुमरी में उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ठकुराई गुट द्वारा आयोजित सम्मेलन में वर्तमान समय में माध्यमिक शिक्षा की भूमिका, विषय पर गोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। कहा कि जिस शिक्षा से समाज में सकारात्मक सोच के साथ संस्कार युक्त शिक्षा दी जाती थी,उसे पूंजीपतियों के हाथों में देने का पूरा कुचक्र किया जा रहा है। प्रदेश उपाध्यक्ष रमेश चंद्र सिंह ने कहा कि सरकार की मंशा सार्वजनिक क्षेत्र में संचालित माध्यमिक विद्यालयों को बंद करने की है। डॉ तेज प्रताप सिंह ने कहा कि सरकार ने शिक्षक हितों पर कुठाराघात करते हुए शिक्षा प्राधिकरण बनाया है ।

सम्मेलन को संगठन के संरक्षक बाबू लाल यादव, जिलाध्यक्ष कैप्टन जितेंद्र सिंह,शिवानंद नायक, महामंत्री श्रीकांत यादव ने संबोधित किया। इससे पहले मुख्य अतिथि ने कार्यक्रम का औपचारिक उद्घाटन किया। संयोजक देवेंद्र नाथ तिवारी ने अतिथियों का माल्यार्पण कर तथा अंगवस्त्र देकर के सम्मानित किया गया। संचालन कुंवर शैलेन्द्र सिंह ने किया ।

पीके शर्मा ,उदय नारायण सिंह ,डीके सिंह, दयाशंकर लाल यादव, श्री नारायण पांडेय, डॉ वीरेंद्र कुमार गुप्ता, सुदामा सिंह, सुदामा यादव ,खड़क बहादुर यादव ,हरि बल्लभ सिंह, कौशल सिंह राम प्रताप सिंह कस्तूरी पाठक ,अर्जुन कुमार दीक्षित ,रघुनाथ प्रसाद, धनंजय राव ,चंद्रभान जायसवाल, महेश प्रसाद गौड़, योगेश्वर प्रसाद ,उछ्वव नारायण सिंह, जय प्रकाश श्रीवास्तव, सुनील दुबे ,मुन्ना अंसारी ,अशोक कुमार तिवारी, जंगशेर सिंह ,रमाशंकर पांडेय, राधेश्याम चतुर्वेदी, केशव तिवारी ,रविद्र कुमार त्रिपाठी, बिपिन बिहारी, मोहम्मद जाकिर हुसैन ,उमाकांत कुशवाहा, सहित अन्य शिक्षक गण उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस