देवरिया: जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में वैवाहिक विवाद प्री-लिटिगेशन विशेष लोक अदालत की सफलता के लिए मंगलवार को जनपद न्यायालय के सुलह-समझौता केंद्र में समस्त थानाध्यक्षों के साथ बैठक हुई।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया के सचिव न्यायाधीश तहरीम खान ने सभी थानाध्यक्षों को बताया कि इस विशेष लोक अदालत में ऐसे मामलों का निस्तारण किया जाना हैं जो न्यायालय में लंबित नहीं हैं। अर्थात जो पक्षकारों के माध्यम से सीधे थानों, ऐच्छिक ब्यूरो या कार्यालय जिला विधिक सेवा प्राधिकरण देवरिया में प्रार्थना पत्रों के माध्यम से प्राप्त होते हैं। ऐसे मामलों का जिनका निस्तारण किया जाएगा हैं।

उन्होंने थानाध्यक्षों को निर्देशित किया कि आप अपने थानों पर हेल्प डेस्क स्थापित कर पंफलेट, हैंडबिल एवं बैनरों के माध्यम से प्रचार-प्रसार करें जिससे 22 जनवरी को आयोजित विशेष लोक अदालत में अधिक से अधिक पारिवारिक प्री-लिटिगेशन मामलों का निस्तारण किया जा सकें। इसके लिए दो दिसंबर, पांच दिसंबर व 12 दिसंबर को तीन बैठकें आहूत की जानी हैं। जिसमें पारिवारिक विवाद से संबंधित प्री-लिटिगेशन से संबंधित प्राप्त मामलों में पक्षकारों से वार्ता कर सुलह कराने का प्रयास कर विशेष लोक अदालत के लिए चिह्नित किया जाएगा। संबंधित को भेजे गये नोटिसों का समय से तामिला कराएं। मोटर दुर्घटना से संबंधित मामलों के अधिक से अधिक संख्या में निस्तारण के लिए उससे संबंधित चार्जशीट एवं अन्य कागजात समय से न्यायालय को प्रेषित करें। उन्होंने डीसीपीएम को निर्देशित किया कि आशा तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के माध्यम से विशेष लोक अदालत की सफलता के लिए प्रचार-प्रसार कराएं।

प्रभारी निरीक्षक अनुज सिंह, खामपार थानाध्यक्ष वृजेश मिश्र, बनकटा थानाध्यक्ष बिपिन मलिक, भटनी थानाध्यक्ष गोपाल पांडेय, सलेमपुर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक नवीन मिश्र, रुद्रपुर प्रभारी निरीक्षक जितेंद्र कुमार आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran