देवरिया: उप्र प्रदेश लेखपाल संघ के तत्वावधान में सभी तहसीलों में लेखपालों का कार्य बहिष्कार व धरना दूसरे दिन भी जारी रहा। लेखपालों ने चेताया कि यदि उनकी मांगों पर विचार नहीं किया गया तो आंदोलन आगे भी जारी रहेगा। वहीं आंदोलन से लोगों को मायूसी हाथ लगी है। रिपोर्ट लगवाने के लिए लोग भटकते रहे। प्रमुख मांगों में शैक्षिक योग्यता स्नातक करने, वेतन विसंगतियों को दूर करने, पदनाम परिवर्तन, ग्रेड पे 2800 देने, प्रधानमंत्री सम्मान निधि का मानदेय लेखपालों को दिलाने, पेंशन विसंगति दूर करने की मांग शामिल है। अध्यक्षता नागेश पति त्रिपाठी ने किया। इस मौके पर जिलाध्यक्ष चंद्रभूषण पांडेय, जिला मंत्री अमरेंद्र तिवारी, तहसील तहसील अध्यक्ष नर्वदेश्वर मिश्र, निधि मिश्रा, राधेश्याम दुबे, रामदास यादव, सुमित श्रीवास्तव, शैलेश कुमार मौजूद रहे। सलेमपुर कार्यालय के अनुसार, लेखपाल संघ के अध्यक्ष लकमुदीन अंसारी की अगुवाई में कार्य बहिष्कार हुआ। इस मौके पर सुनील श्रीवास्तव, दिनेश लाल श्रीवास्तव, अतुल, रजनीश मिश्र, नितेश चतुर्वेदी आदि मौजूद रहे। रुद्रपुर कार्यालय के अनुसार, जिलाध्यक्ष चंद्रभूषण पांडेय, जिला मंत्री अमरेंद्र तिवारी, तहसील अध्यक्ष रवि पाल, कृष्णमुरारी पांडेय, रमेश चंद, रवि अग्रवाल आदि मौजूद रहे। वहीं बरहज व भाटपाररानी में भी लेखपालों ने कार्य बहिष्कार कर धरना दिया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस