देवरिया : आठ सूत्रीय मांगों को लेकर उत्तर प्रदेश जल निगम जल संस्थान यूनियन के बैनर तले गुरुवार को अधिशासी अभियंता कार्यालय भुजौली कालोनी में अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन के साथ हुआ। कर्मचारियों ने समस्याओं का समाधान होने तक धरना जारी रखने का एलान किया।

अध्यक्ष शंभू नाथ पांडेय ने कहा कि ग्राम पंचायतों द्वारा हैंडपंपों का रिबोर कराया गया, जिसका सत्यापन कर्मचारियों ने किया। सत्यापन के लिए मौखिक रूप से एक हजार रुपये भुगतान करने को कहा गया था, लेकिन भुगतान नहीं किया जा रहा है। पेयजल योजना में अवर अभियंताओं ने जो सूची दी है उसमें 600 से 700 कनेक्शन हैं, लेकिन सत्यापन के दौरान मात्र 200 से 250 कनेक्शन ही पाए जा रहे हैं। पेयजल योजनाओं में लिकेज व विद्युत कनेक्शन न होने की वजह से आपूर्ति नहीं हो पा रही है, जिससे ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ रहा है। कर्मचारियों द्वारा जलकर वसूली किए गए धनराशि का पांच फीसद नकद भुगतान किया जाय। धरने को बृज किशोर पांडेय, रविद्र चौरसिया, प्रभुनाथ चौरसिया, रामसजन आदि ने संबोधित किया। धरना प्रदर्शन करने वालों में सिद्धार्थ पांडेय, प्रभाकर तिवारी, राधेश्याम चौरसिया, प्रदीप श्रीवास्तव, काशीनाथ मिश्र, रामेश्वर सिंह, सुग्रीव सिंह, रामविलास, राजेश्वर सिंह, राजकुमार राम आदि शामिल रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस