देवरिया: काशीराम शहरी गरीब आवास योजना के अंतर्गत मेहड़ा खास में आवंटित आवासों को किराए पर देने पर जिला प्रशासन ने सख्त कदम उठाया है। एसडीएम सदर रामकेश यादव की अगुवाई में पुलिस टीम ने 37 अवैध आवंटियों को बाहर का रास्ता दिखाते हुए खाली कराया। इस कार्रवाई से खलबली मच गई है।

काशीराम शहरी गरीब आवास योजना के तहत आवंटित आवासों को किराए पर दिए जाने को जिला प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। तत्कालीन डीएम सुजीत कुमार के निर्देश पर हुई जांच में मेहड़ा खास में 37 लोगों द्वारा आवास को किराए पर दिए जाने का मामला प्रकाश में आया। डीएम ने 12 अक्टूबर 2017 को आवासों को खाली कराने का निर्देश दिया था। साथ ही इसकी सुपुर्दगी नगर पालिका प्रशासन को करने को भी कहा था। डीएम के आदेश पर एसडीएम सदर ने इन आवासों को खाली कराया। जिसमें आशा देवी, उर्मिला देवी, राम औतार, विनय कुमार, छेदीलाल, असमत जहां, हेमा देवी, सबुलया देवी, रामचंद्र जायसवाल, लल्लन, बीरबल शर्मा, सत्यनारायण, कारी शर्मा, पूनम, शकुंतला देवी, रामशीष, राम बढ़ाई, सुरेंद्र बांसफोर, विनोद कुमार, पुष्पा यादव, कु.श्वेता शामिल हैं। एसडीएम ने बताया कि 37 अवैध लोगों से आवास को खाली करा लिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस