देवरिया : ग्राम प्रधान की हत्या के बाद पुलिस-प्रशासन गंभीर हो गया है। गांव में सुरक्षा के मद्देनजर एसपी के निर्देश पर मृतक सुनील यादव के घर पीएसी तैनात कर दी गई है। साथ ही गांव में गश्त बढ़ा दी गई है। एसपी ने कहा कि यह सुरक्षा की ²ष्टि से किया गया है। पुलिस कर्मियों की तैनाती आगे भी जारी रहेगी। घटना को लेकर पूरे दिन ग्राम प्रधान के घर में मातम का माहौल रहा। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था।

------------------

पुलिस छावनी में तब्दील रहा लार

सलेमपुर, देवरिया: घटना के बाद से ही लोगों के आक्रोश को देख प्रशासन स्थिति भांप गया था। शव लार थाना पहुंचे, उसके पहले ही लार थाने को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया। लार थानाध्यक्ष अनिल ¨सह के अलावा मईल के प्रभारी निरीक्षक शुभ नारायण दुबे, सलेमपुर प्रभारी निरीक्षक सीपी जैसल, खुखुंदू परमाशंकर यादव, भटनी आलोक ¨सह, भाटपाररानी सुदेश शर्मा, खामपार भीष्मपाल ¨सह यादव, भलुअनी शिवशंकर चौबे, सदर कोतवाल विजय नारायण, गौरीबाजार थानाध्यक्ष भूपेंद्र ¨सह, रामपुर कारखाना थानाध्यक्ष विनय कुमार ¨सह, महिला थानाध्यक्ष शोभा ¨सह सोलंकी के साथ ही पीएसी, क्यूआरटी समेत अन्य फोर्स भी तैनात कर दी गई। पूरे दिन लार थाना गेट पुलिस छावनी में तब्दील रहा।

----------------------------

लोगों के आक्रोश को देख पुलिस रही बैकफुट

सलेमपुर, देवरिया: घटना के बाद से ही लोगों का आक्रोश पुलिस प्रशासन के खिलाफ ज्यादा रहा। रविवार की रात कई बार लोग आंदोलित हुए और पुलिस उन्हें समझाने का प्रयास की, लेकिन लोगों के आक्रोश को देख पुलिस बैकफुट पर आ जाती। सोमवार की सुबह भी यही स्थिति रही, महिलाएं आंदोलन कर रही थीं और पुलिस शांत रही।

----------------------------

Posted By: Jagran