देवरिया : बालगृह बालिका कांड समेत सात सूत्री मांगों को लेकर भाकपा माले ने बुधवार को रेलवे स्टेशन से सरकार विरोधी नारेबाजी करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचे, जहां जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन कर विरोध जताया और राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व सीताराम गुप्ता को सौंपा। इस दौरान सभा भी आयोजित किया गया।

रेलवे स्टेशन से प्रदर्शनकारी एपवा की राष्ट्रीय महासचिव मीना तिवारी, भाकपा माले के प्रदेश सचिव सुधाकर यादव के नेतृत्व में मालवीय रोड, सुभाष चौक, सिविल लाइन रोड होते हुए जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे। जहां सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सभा को संबोधित करते हुए एपवा के राष्ट्रीय महासचिव मीना तिवारी ने कहा कि बिहार में नीतिश सरकार सीबीआई जांच कराने को तैयार नहीं थी, लेकिन आंदोलन के दबाव के चलते सीबीआइ जांच करानी पड़ी। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में भी आंदोलन के बल पर सीबीआइ जांच के लिए सरकार को मजबूर किया जा सकता है। सरकार जब तक हाईकोर्ट की निगरानी में सीबीआई जांच नहीं कराती है तब तक आंदोलन जारी रहेगा। प्रदेश सचिव श्री यादव ने कहा कि आज पूरे प्रदर्शन में शेल्टर होमों की जांच हाईकोर्ट की निगरानी में सीबीआई की जांच के लिए धरना प्रदर्शन किया जा रहा है। अध्यक्षता प्रेमलता पांडेय व संचालन श्रीराम कुशवाहा ने किया। इस दौरान एपवा की अध्यक्ष गीता पांडेय, श्रीराम चौधरी, राजेश साहनी, ओमप्रकाश ¨सह, परमहंस, बसंत, लाल साहब, सुहेल गुप्ता, नीलम ¨सह, कलक्टर शर्मा, अरुण कटारिया, हरिशंकर यादव आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran