देवरिया: जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार काफी कम है। इस बीच रविवार को कोरोना से पीड़ित एक किशोरी की इलाज के दौरान मौत हो गई। इसकी सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग व मृतका के गांव में खलबली मच गई। स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव पहुंच निरोधात्मक कार्रवाई में जुट गई है। जनपद में कोरोना के सक्रिय केस की संख्या एक है। एहतियात के तौर पर गांवों में लोगों की जांच कराई जा रही है। जिला अस्पताल में भी कोरोना की जांच की गई।

15 वर्षीय काजल, भेड़ा पाकड़, भलुअनी की रहने वाली है। दो दिन पूर्व स्कूल के लिए घर से निकली थोड़ी दूरी पर वह चक्कर आने पर पीछे सर के बल गिर गई। स्वजन उसे इलाज के लिए देवरिया प्राइवेट अस्पताल ले आए। यहां हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने उसे गोरखपुर रेफर कर दिया। बीआरडी मेडिकल कालेज से हालत में सुधार नहीं होने पर केजीएमयू लखनऊ के लिए डाक्टरों ने भेज दिया। वहां कोरोना जांच में पाजिटिव पाई गई। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। उसके परिवार में पांच सदस्य है। सीएमओ डा. आलोक पांडेय ने बताया कि रविवार को एक की मौत कोरोना से हुई है। गांव में मृतका के स्वजन अन्य ग्रामीणों की सैंपलिग कराई जा रही है।

सड़क हादसे में अधेड़ की मृत्यु

रिश्तेदारी में आए अधेड़ की रविवार भोर में बरहज बाइपास स्थित रेलवे ढाला के पास अज्ञात वाहन की चपेट में आने से मृत्यु हो गई गई। घंटों बाद इसकी भनक स्वजन व अन्य लोगों को लग सकी। गोरखपुर जनपद के बड़हलगंज स्थित बिहुआ उर्फ अगलगउहा सरया खास के रहने वाले रामनगीना यादव रिश्तेदारी में बरहज आए थे। भोर में करीब चार बजे किसी अज्ञात वाहन की चपेट में आने से लवरछी-रगरगंज बाइपास स्थित रेलवे क्रासिग के पास उनकी मृत्यु हो गई। सुबह टहलने आए लोगों ने देख इसकी जानकारी पुलिस को दी। रामनगीना खेती-किसानी करते थे।

Edited By: Jagran