देवरिया : आरोग्य भारती व प्रज्ञा योग संस्थान के तत्वावधान में शहर के शिवपुरम कालोनी में स्वास्थ्य जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान मधुमेह से बचाव व उसके प्रभाव के प्रति लोगों को जागरूक किया गया। संबोधित करते हुए आरोग्य भारती के प्रांतीय उपाध्यक्ष डा.अजीत नारायण मिश्र ने कहा कि मधुमेह से बचाव के लिए स्वस्थ जीवन शैली अपनाने की आवश्यकता है। आज बहुत तेजी से लोग मधुमेह की चपेट में आ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि भारत मधुमेह कैपिटल बनने की ओर अग्रसर है इसलिए इससे बचाव और जागरूकता जरूरी है। गांवों में भी अब लोग पहले जैसे शरीरिक मेहनत नहीं कर रहे हैं। मधुमेह से बचाव के लिए शरीरिक मेहनत आवश्यक है। संगठन द्वारा देश भर में मधुमेह मुक्त भारत अभियान के अंतर्गत मधुमेह के प्रति जागरूकता शिविर व योग शिविर चलाया जा रहा हैं। जिसमें देवरिया और कुशीनगर में भी शिविर चल रहे हैं। मधुमेह से होने वाले शरीर पर हानिकारक प्रभाव से बचने के लिए नियमित ब्लड सुगर व रक्तचाप की जांच कराएं। स्वस्थ जीवन शैली के साथ चीनी, मैदा, आलू, नमक जैसे खाद्य पदार्थों से परहेज करें। सेल्फ मेडिटेशन से बचे और विशेषज्ञ चिकित्सक से राय लें। उन्होंने कहा कि रोगी व्यक्ति न तो देश का विकास कर सकता है और न ही स्वयं का। जागरूकता शिविर में 60 लोगों का मधुमेह जांच किया गया। चिकित्सकों ने मरीजों को परामर्श दिया और खान पर नियंत्रण रखने की सलाह दी।

यहां मुख्य रूप से डा. राम प्रवेश मणि त्रिपाठी, अनुपम शर्मा, कमलेश, योग प्रशिक्षिका दीपा तिवारी, दीक्षा, भानु प्रकाश, मनीष मिश्र, राम प्रताप पांडेय, मुन्ना ठाकुर, पूनम यादव, विकास आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस