संवाद सहयोगी, मऊ/मानिकपुर (चित्रकूट) : आफत की बारिश अब जानलेवा बन चुकी है। शुक्रवार रात मऊ तहसील अंतर्गत गांव में दीवार ढहने से महिला की मौत हो गई जबकि कीचड़ ने गांव से लेकर शहर तक मुश्किलें बढ़ा दी हैं। छात्र-छात्राएं और ग्रामीण आवाजाही को लेकर समस्याओं से घिरे हुए हैं। स्कूलों के परिसर और रास्ते भी डूब गए हैं।

शुक्रवार रात करीब एक बजे बारिश के दौरान मऊ थानाक्षेत्र के ग्राम माधव का पुरवा मजरा पुरा में कालका प्रसाद के कच्चे मकान की दीवार ढह गई। दीवार के पास सो रही उनकी 24 वर्षीय पत्नी गीता दब गई। मलबा हटाने से पहले उनकी सांसें उखड़ गईं। क्षेत्रीय लेखपाल फूलचंद्र ने मौके पर पहुंचकर निरीक्षण किया और रिपोर्ट मऊ तहसीलदार को दी है। उन्होंने बताया कि नियमानुसार मदद कराई जाएगी। बताया कि लगातार बारिश के कारण नमी आने से घटना हुई। पड़ोसियों ने मलबा हटाया पर तब तक मौत हो चुकी थी। छह साल पहले शादी हुई थी लेकिन कोई संतान नहीं हुई थी। ऊंचाडीह में रपटा बहा

मानिकपुर के पाठा अंतर्गत बरदहा नदी में बाढ़ के कारण ऊंचाडीह के पास चमरौहा संपर्क मार्ग रपटा बह गया। ग्राम सचिव जय प्रकाश सिंह, रोजगार सेवक राज किशोर व पूर्व प्रधान मार्तंडेय सिंह ने जायजा लेकर व्यवस्था सुधारने के लिए प्रयास शुरू किए। बताया कि कि जल्द मार्ग बहाल कर दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस