Move to Jagran APP

चित्रकूट में देर रात DJ बजाने से मना किया तो हमलावर हुए ग्रामीण, थानाध्यक्ष समेत छह घायल; पथराव में पुलिस के कई वाहन टूटे

Chitrakoot Crime News In Hindi थाना भरतकूप के रौली कल्याणपुर में देर रात डीजे बजाने से मना करने गई पुलिस पार्टी पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया। पत्थर बरसाते हुए पुलिस को लाठी डंडा से दौड़ा कर पीटा। जिसमें थानाध्यक्ष व दो महिला सिपाही समेत छह पुलिस कर्मी घायल हो गए। जबकि पथराव में वाहनों के शीशे टूट गए हैं।

By hemraj kashyap Edited By: Riya Pandey Sat, 08 Jun 2024 03:47 PM (IST)
चित्रकूट में देर रात DJ बजाने से मना किया तो पुलिस पर हमलावर हुए ग्रामीण

जागरण संवाददाता, चित्रकूट। थाना भरतकूप के रौली कल्याणपुर में देर रात डीजे बजाने से मना करने गई पुलिस पार्टी पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया। पत्थर बरसाते हुए पुलिस को लाठी डंडा से दौड़ा कर पीटा। जिसमें थानाध्यक्ष व दो महिला सिपाही समेत छह पुलिस कर्मी घायल हो गए। जबकि पथराव में वाहनों के शीशे टूट गए हैं। पुलिस ने 13 उपद्रवियों को दबोच लिया है और थानाध्यक्ष की तहरीर पर 18 नामजद व 20 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

रौली कल्याणपुर के बजनी मोड़ निवासी सुशील वर्मा के बेटे का शुक्रवार को जन्मदिन था। जिसमें परिवार सदस्यों के साथ रिश्तेदार इकट्ठा हुए थे। शाम को शुरू हुई बर्थ डे पार्टी देर रात कर चल रही थी। उसमें तेज ध्वनि के साथ डीजे बजाया जा रहा था। रात में करीब 12 बजे एक व्यक्ति ने पीआरवी को फोन शिकायत दर्ज कराई।

महिला व पुरुष ने पुलिस वालों के साथ की अभद्रता

भरतकूप चौराहे पर खड़े पीआरवी आरक्षी राहुल कुमार व होमगार्ड रामकरण बजनी मोड में सुशील के घर पहुंचे। लोगों की परेशानी बता कर डीजे बंद करने को कहा। जिस पर पार्टी मना रहे परिजन भड़क गए। महिला व पुरुषों ने पुलिस वालों के साथ अभद्रता व गालीगलौज शुरू कर दी। कुछ ने आरक्षी की पिस्टल छीनने की कोशिश की। बचाव के लिए आरक्षी राहुल ने थाने में काल मिलाने को मोबाइल फोन निकाला तो हमलापर पीटने लगे। राहुल व रामकरण ने किसी तरह भाग कर जान बचाई और थाने में सूचना दी।

कुछ देर में थानाध्यक्ष प्रवीण सिंह समेत उपनिरीक्षक राजेंद्र बहादुर सिंह, रात्रि अधिकारी उपनिरीक्षक अजहर थाने के फोर्स के साथ पहुंचे तो हमलावरों ने उन पर भी पथराव शुरू कर दिया। पुलिस संभल पाती उसके पहले थाने के वाहन के शीशे टूट गए और पत्थर लगने से कई लोग घायल हो गए।

करीब एक घंटा बाद सीओ सिटी राजकमल भी कई थानों व चौकियों के फोर्स के साथ घटना स्थल पहुंचे। काफी देर चले संघर्ष के बाद उपद्रव कर रहे 13 लोगों को गिरफ्तार शांति व्यवस्था बहाल की।

हमलावरों के घर पर दबिश

पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सिंह ने बताया कि इस हमले में थानाध्यक्ष प्रवीण सिंह, कांस्टेबल सतीश यादव, नरेंद्र सिंह, पीआरपी सिपाही राहुल कुमार, महिला आरक्षी दीपिका सिंह व शिखा के गंभीर चोटें आई है। जबकि हमलावरों के घर पर दबिश दी जा रही है। कई हमलावर घर से फरार हैं।

थानाध्यक्ष प्रवीण सिंह की तहरीर पर जनपद बांदा थाना जमालपुर के मनकीपुरवा निवासी मनोज कुमार व रोहित पुत्र कालीदीन, नीरज पुत्र छालीदीन, महोखर बाईपास निवासी सर्वेश पुत्र राजाराम, थाना गिरवां के मनीपुर निवासी सूरज पुत्र इंदभवन व राजरानी पत्नी इंद्रभवन, रौली कल्याणपुर निवासी इंदू प्रसाद पुत्र रामजी, सुशील पुत्र चंदप्रसाद, मन्नू पुत्र चंदपाल, उमाशंकर उर्फ कल्लू पुत्र चंद्रपाल, महेश, लल्लू, नीलम पत्नी उमाशंकर, थाना भरतकूप के लुहिया पानकुमारी पत्नी महेश, सुलता पत्नी फूलचंद, साधना पत्नी सोनू, संतोषी पत्नी महेंद्र व कंचन पत्नी सुशील सहित 15-20 अज्ञात के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाते हुए, पुलिस फोर्स पर प्राण घातक हमला करने, मारपीट, गालीगलौज, जान से मारने कि धमकी, सरकारी वाहन में तोड़फोड़ व सरकारी अधिकारी की वर्दी फाड़ने व मारपीट कर पैसा व घड़ी छीनने सहित अन्य संगीन धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है।

नहीं था हमले का अंदेशा, बिना तैयारी के गई थी पुलिस 

बर्थ डे पार्टी के दौरान पीआरपी टीम व ग्रामीणों के बीच हुए विवाद से पुलिस इतने बड़े हमले का अंदाजा नहीं लगा पाई। थाना पुलिस बिना की किसी तैयारी यानी अपने बचाव के उपकरण बिना ही पहुंच गई थी। बताते हैं कि जैसे की थानाध्यक्ष प्रवीण सिंह फोर्स के साथ पहुंचे तो हमलावर लाठी, डंडा, लोहे की राड और पत्थर लेकर दौड़ पड़े। पुलिस संभलती उसके पहले हमला कर दिया। अचानक हुए हमला से पुलिस अधिकारी व जवान इधर उधर भागे। हमलावर थाने की जीप पा गए तो उसको ही शीशा तोड़ डाला।

थानाध्यक्ष के मुताबिक वह समझाने के उद्देश्य से घटना स्थल गए थे। इसलिए सुरक्षा के उपकरण भी नहीं ले गए थे। इसी चूक के कारण कई लोगों को चोटें आई है। जिन्होंने हमला किया अधिकांश लोग शराब के नशे में भी थे। अज्ञात लोगों को भी चिन्हित किया जा रहा है। ऐसा कृत्य करने वाले किसी को भी बख्सा नहीं जाएगा।