जागरण संवाददाता, चित्रकूट : जिले की सबसे पुरानी रामलीला कमेटी पुरानी बाजार कर्वी की ओर से धुस मैदान में इस वर्ष 30 फीट रावण के पुतला का दहन किया जाएगा। रामलीला भवन में स्थानीय कलाकार पुतला का निर्माण कर रहे हैं। शुक्रवार को पुतला दहन के साथ राम-रावण युद्ध का भी मंचन होगा।

रामलीला कमेटी पुरानी बाजार धुस मैदान के प्रबंधक श्याम गुप्ता ने बताया कि दशहरा मेला का आयोजन पूर्व वर्षों की भांति किया जाएगा। धुस मैदान पार्क में रावण के पुतला का दहन शाम को होगा। इस साल 30 फीट के रावण का पुतला जलाया जाएगा । स्थानीय कलाकार रामनारायण प्रजापति की ओर से रावण का पुतला निर्माण किया जा रहा है। भव्य पुतला बन रहा है। आठ फीट की चौकी के ऊपर रावण के पुतला को बैठाया जाएगा। पुतला दहन के साथ अंतिम दिन के लीला तैयारी कर ली गई है। अंतिम लीला राम-रावण युद्ध का मंचन पुतला के सामने होगा। उसके लिए खुले मैदान में मंच तैयार किया गया है। दशहरा मेला में लोक निर्माण राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय व सांसद आरके सिंह पटेल भी शामिल होंगे।

------------------------

रावण का पुतला दहन नहीं करेगा ब्राह्मण समाज

बांदा : ब्राह्मण समाज की बैठक कचहरी परिसर में हुई। सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि इस वर्ष रावण पुतला दहन नहीं किया जाएगा। पदाधिकारियों ने विधानसभा चुनाव को लेकर भी चर्चा की। उत्थान विचार समिति के पूर्व अध्यक्ष रमाकांत द्विवेदी ने कहा कि महापंडित रावण प्रकांड विद्वान तपस्वी था। उसका पुतला दहन किया जाना महापाप है। रावण ने अपनी बहन सूर्पणखा के अपमान का बदला लेने के लिए माता सीता का अपहरण किया, लेकिन उन्हें सम्मान पूर्वक अशोक वाटिका में रखा। विष्णु दत्त मिश्र ने बताया कि ऐसे कर्मकांडी का पुतला दहन नहीं होना चाहिए।-वि.

Edited By: Jagran