जागरण संवाददाता, चित्रकूट : कोरोना की संभावित तीसरी लहर में जीवन वायु से किसी की जान न जाए इसकी तैयारी में स्वास्थ्य विभाग जुटा है। खोह में संचालित कोविड अस्पताल में एक ऑक्सीजन प्लांट बनकर तैयार है। जबकि दूसरे पर काम चल रहा है। साथ ही मानिकपुर में भी काम चल रहा है। माना जा रहा है कि यह एक सप्ताह में तैयार हो जाएंगे। जिले में कोरोना की संभावित तीसरी लहर का प्रभाव कम से कम हो इसके लिए प्रयास स्वास्थ्य विभाग कर रहा है। लोगों को कोविड-19 प्रोटोकॉल के पालन के लिए जागरूक करने के साथ संसाधनों पर जोर है। महामारी के खतरे को अत्यंत कम करने के लिए पर्याप्त इंतजाम किए जा रहे हैं। कोविड-19 अस्पताल खोह में एक ऑक्सीजन प्लांट तैयार है। इसका निर्माण पीएम केयर फंड से किया गया है। जबकि एक में काम चल रहा है। यह प्लांट लोक निर्माण राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय की विधायक निधि से लग रहा है। इसके अलावा एक प्लांट सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मानिकपुर तैयार हो रहा है है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शिवरामपुर में भी एक ऑक्सीजन प्लांट निर्माणाधीन है। इस प्लांट के भी शीघ्र बनकर तैयार होने की संभावना है। सीएमओ डा भूपेश द्विवेदी ने बताया कि कोविड अस्पताल खोह में पूर्ण रूप से तैयार हो चुके ऑक्सीजन प्लांट की क्षमता 200 लीटर प्रति मिनट है। जरूरतमंद मरीजों को एक मिनट में 200 लीटर ऑक्सीजन दी जा सकेगी। लगने वाले प्लांट की क्षमता 500 लीटर प्रति मिनट होगी। जबकि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मानिकपुर में 200 लीटर प्रति मिनट क्षमता का प्लांट लग रहा है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शिवरामपुर में एक और ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण चल रहा है जो शीघ्र बन कर तैयार हो जाएगा। इसके अलावा एक प्लांट जिला अस्पताल में भी लगनाौह जिसका प्रस्ताव भेजा गया है।

Edited By: Jagran