जासं, चकिया (चंदौली): कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में पांच दिवसीय जीवन कौशल विकास प्रशिक्षण शिविर के आयोजन के दूसरे दिन मंगलवार को स्वस्थ जीवन शैली का गुर सिखाया गया। प्रशिक्षण में विद्यालय के छात्राओं ने बढ़चढ़ कर हिस्सेदारी निभाई।

प्रशिक्षक ममता मिश्रा ने छात्राओं को जीवन को स्वस्थ बनाए रखने के तौर तरीके को विस्तार से बताया। कहा कि किशोरियों को अध्ययन कार्य के दौरान नियमित समय से खान, पान, स्नान ध्यान पर विशेष ध्यान केंद्रीत करना चाहिए। शिक्षण कार्य हो या फिर खेल कूद, घर का कार्य समय सारणी के अनुसार करना सेहत के लिए फायदेमंद ही नहीं बल्कि जरूरी है। शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रहने की आवश्यक जानकारी दी। प्रशिक्षक सरोज प्रभा ने शिक्षा के साथ खेल, कूद व सामाजिक अनुभूतियों का भान कराया। खुद की सुरक्षा के तौर तरीके को सुझाते हुए कहा कि कराटे व बा¨क्सग के माध्यम से विपरित परिस्थितियों में भी खुद के साथ औरों को भी सुरक्षित किया जा सकता है। सामाजिक ज्ञान के प्रति सजग रहने की नसीहत दी। वार्डेन कुमारी ममता ने छात्राओं का उत्साह वर्धन करते हुए पूरे लगन व मेहनत से शिक्षण कार्य के साथ ही स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देने के लिए प्रेरित किया। प्रशिक्षण के दौरान शिक्षिका निशा यादव, सरिता देवी ने सराहनीय योगदान किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस