मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, चंदौली : छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सली विस्फोट की घटना को लेकर जिले के नक्सल प्रभावित इलाकों में सुरक्षा एजेंसियां एलर्ट हो गईं। बिहार, सोनभद्र बार्डर पर तैनात सीआरपीएफ जवान और पुलिस को मुस्तैद रहने का निर्देश दिया गया। वहीं कांबिग बढ़ाने को कहा गया है।

मंगलवार को दंतेवाड़ा में नक्सली हमले में पांच लोगों की मौत ने नक्सल प्रभावित इलाकों के अधिकारियों के कान खड़े कर दिए। चूंकि लोकसभा चुनाव है इसको लेकर पूर्व से ही सतर्कता बरती जा रही लेकिन इस घटना ने सभी के कान खड़े कर दिए। यूपी में चंदौली, सोनभद्र और मिर्जापुर जिले नक्सल प्रभावित जिले हैं। यहां अक्सर नक्सलियों की चहलकदमी को लेकर चर्चाएं उठती रहती हैं। हालांकि सुरक्षा विभाग इसको नकारता रहा है। जिले की सीमा से बिहार, एमपी और छत्तीसगढ़ की सीमाएं लगती हैं इसलिए हर दम सुरक्षा एजेसियां एलर्ट रहती हैं। लेकिन दंतेवाड़ा की घटना को लेकर देश भर मे एलर्ट जारी किया गया है। इसे देखते हुए जिला पुलिस ने सुरक्षा कर्मियों को विशेष सतर्कता बरतने का निर्देश दिया है। नौगढ़ तहसील क्षेत्र में घना जंगल होने के कारण अक्सर चर्चाएं बलवती होती रही हैं, इसलिए ऐसी कोई अनहोनी न होने पाए पुलिस और सीआरपीएफ कर्मियों को एलर्ट कर दिया गया है।

'दंतेवाड़ा की घटना को लेकर सुरक्षा कर्मियों को एलर्ट किया गया है। जंगलों में कांबिग और अराजक तत्वों पर भी नजर रखने को कहा गया है। चुनाव को दृष्टिगत रखते हुए फोर्स भी बढ़ाई गई है।

संतोष कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप