जासं, चंदौली : जीपीएफ व सीपीएफ के फर्जी निवेश के विरोध में विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के सदस्यों ने शुक्रवार को मुख्यालय स्थित एक्सईएन कार्यालय के समीप प्रदर्शन किया। सरकार पर मामले में लीपापोती का आरोप लगाते हुए जमकर नारेबाजी की। वहीं शीघ्र पैसा लौटाने की मांग की। चेताया कि यदि गाढ़ी कमाई वापस नहीं मिली तो कार्य बहिष्कार व आंदोलन किया जाएगा।

वक्ताओं ने कहा कर्मियों की गाढ़ी कमाई फर्जी तरीके से डीएचएफएल में फर्जी तरीके से निवेश की गई। गाढ़ी कमाई वापस होने की कोई उम्मीद नहीं है। सरकार मामले में ठोस कार्रवाई करने की बजाए लीपापोती में लगी है। ऐसे में कर्मचारियों को काफी नुकसान झेलना पड़ेगा। कइयों के घर-परिवार बर्बाद हो जाएंगे। कहा बिजली विभाग के अधिकारी-कर्मचारी लगातार काम करते हैं। इसके चलते नगर-गांव रोशन हो रहे। वहीं कल-कारखाने संचालित हो रहे हैं। अधिकारियों-कर्मचारियों की गाढ़ी कमाई हर हाल में वापस होनी चाहिए। सरकार को इसके लिए पहल करनी चाहिए। यदि शीघ्र धनराशि वापस नहीं हुई तो कार्य बहिष्कार करते हुए बेमियादी धरना-प्रदर्शन शुरू करने को विवश होंगे। एक्सईएन एके शुक्ला, दलसिगार यादव, जयप्रकाश, दिनेश सिंह, डीके पांडेय, घनश्याम, जयप्रकाश, शाहनवाज आलम, संतोष कुमार, दीपक कुमार आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस