मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जासं, चंदौली : जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्र में पोलिग पार्टियां सुरक्षित स्थानों पर रात गुजारेंगी। मतदान कार्मिक 18 मई की शाम तीन बजे तक गंतव्य तक पहुंच जाएंगे। उन्हें संबंधित थाना परिसर अथवा अन्य सुरक्षित स्थान पर ठहराया जाएगा। जबकि 19 मई की भोर में मतदान केंद्रों पर पहुंचाया जाएगा। इसको लेकर पुलिस महकमा तैयारियों में जुट गया है।

नक्सल प्रभावित चकिया विधानसभा के नौगढ़ व चकरघट्टा थाने में आने वाले करीब 40 मतदान केंद्र अतिसंवेदनशील की श्रेणी में शामिल हैं। पहाड़ी व दुर्गम इलाकों में स्थित होने से नक्सली हमले की आशंका को लेकर प्रशासनिक महकमा सशंकित रहता है। इसके चलते पिछले चुनावों में भी पोलिग पार्टियों को रात के वक्त कभी इन केंद्रों पर नहीं ठहराया गया। लोकसभा चुनाव में भी पोलिग पार्टियों के लिए सुरक्षित स्थानों पर रात गुजारने की व्यवस्था कराने की योजना बनाई जा रही है। चकिया विधानसभा में सुबह सात से मतदान शुरू होगा। लेकिन जिले में अन्य स्थानों से दो घंटे पहले शाम चार बजे ही बंद हो जाएगा। अतिसंवेदनशील बूथों की सुरक्षा अ‌र्द्धसैनिक बलों के हवाले रहेगी। सुरक्षाबल अत्याधुनिक हथियारों के साथ सैटेलाइट फोन से भी लैस रहेंगे। पुलिस महकमा पिछले चुनावों के रिकार्ड खंगालने में जुट गया है। एसपी संतोष कुमार सिंह ने कहा अतिसंवेदनशील बूथों पर मतदान को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने को विशेष सतर्कता बरती जा रही है। पोलिग पार्टियों को सुरक्षा स्थानों पर रात्रि विश्राम कराने पर विचार किया जा रहा है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप