जागरण संवाददाता, चंदौली : लोकसभा चुनाव मतदान के दिन 19 मई को सरकारी व निजी प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। लेकिन यहां काम करने वाले कर्मचारियों को मानदेय का भुगतान किया जाएगा। इसको लेकर निर्वाचन आयोग ने गाइडलाइन जारी करते हुए जिला प्रशासन को कड़ाई के साथ अनुपालन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया है। इसकी अनदेखी पर प्रतिष्ठान मालिकों के विरूद्ध कार्रवाई तय है।

मतदान के दिन बूथों के आसपास दो सौ मीटर के दायरे तक सारी दुकानें व प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। सरकारी दफ्तरों में भी ताला लटकता रहेगा। मनरेगा के तहत होने वाले कार्य ठप रहेंगे। प्रतिष्ठान बंद होने पर अमूमन मालिकों की ओर से कर्मचारियों का उस दिन का वेतन काट दिया जाता है। लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा। आयोग ने मतदान के दिन प्रतिष्ठान बंद होने पर भी मानदेय का भुगतान करने का निर्देश दिया है। जिला प्रशासन को पत्र भेजकर दिशा-निर्देश का कड़ाई के साथ पालन सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया है। इसका पालन न करने पर प्रतिष्ठान का लाइसेंस रद्द करने की चेतावनी दी है।

--------------------------

मनरेगा मजदूरों को मिलेगा लाभ

जिले में 2.24 लाख मनरेगा मजदूर हैं। इसके अलावा हजारों दैनिक वेतनभोगी हैं। मतदान के दिन प्रतिष्ठान बंद रहने पर सभी दैनिक वेतन भोगियों व अधिकांश मनरेगा मजदूरों को मानदेय का भुगतान किया जाएगा। इसको लेकर जिला प्रशासन की ओर से प्रतिष्ठान स्वामियों को दिशा-निर्देश जारी किया जाएगा।

--------------------------

वर्जन :

निर्वाचन आयोग की ओर से मतदान के दिन छुट्टी होने पर भी दैनिक वेतनभोगियों व मनरेगा मजदूरों को मजदूरी के भुगतान का निर्देश दिया गया है। इसका कड़ाई के साथ पालन सुनिश्चित कराया जाएगा।

डा. एके श्रीवास्तव, मतदान कार्मिक प्रभारी।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran