जागरण संवाददाता, चंदौली : एनडीआरएफ (नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स) की ओर से जिले में राहत सामग्री प्रदान की गई है। पुरुषों व महिलाओं के लिए 2250 बकेट उपलब्ध कराए गए हैं। इसमें साबुन, तेल, तौलिया, कपड़े समेत दैनिक उपयोग के जरूरी सामान मौजूद हैं। जिला प्रशासन क्वारंटाइन सेंटर व गरीबों में इसका वितरण कराएगा। बिस्किट कंपनी पारले जी ने भी जिले में वितरण के लिए 50 हजार पैकेट मुहैया कराया है।

वैश्विक महामारी को लेकर लॉकडाउन के चलते घरों में कैद गरीबों व क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए लोगों की मदद के लिए एनडीआरएफ ने पहल की है। खासतौर से पिछड़े व आकांक्षात्मक जनपदों में राहत सामग्री पहुंचाई जा रही है। चंदौली प्रशासन की ओर से राहत सामग्री के लिए सहमति प्रदान की गई थी। इस पर कमांडेंट एसएस सजीवन के नेतृत्व में जवानों की टीम दो ट्रकों में भरकर राहत सामग्री के साथ बुधवार की सुबह करीब 11 बजे विकास भवन पहुंची। सीडीओ को 2250 बकेट (बाल्टी) राहत सामग्री मुहैया कराई गई। हर बकेट में मंजन, ब्रश, नहाने व कपड़ा धोने का साबुन, तौलिया, अंडरवियर व गंजी, तेल, कंघी, शीशा, कुर्ता-पायजामा, सलवार-कमीज, नेल कटर, प्लास्टिक बाल्टी, मग, दाढ़ी बनाने का सामान, सेनेटरी नैपकिन मौजूद है। राहत सामग्री की पैकिग खासतौर से क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे लोगों की सुविधा को ध्यान में रखकर किया गया है। जिले में करीब 200 लोगों को क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया है। शेष राहत सामग्री जिला प्रशासन गरीबों में वितरित कराएगा। इसके मद्देनजर गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वालों की ब्लाकवार सूची तैयार कराई जा रही है। कमांडेंट ने बताया कि एनडीआरएफ हरसंभव मदद के लिए तैयार है। जिला प्रशासन की ओर से यदि और डिमांड भेजी गई तो राहत सामग्री तत्काल उपलब्ध करा दी जाएगी। सीडीओ डा. एके श्रीवास्तव ने संस्था के पहल की सराहना की। बताया कि राहत सामग्री क्वारंटाइन सेंटर व गरीबों में वितरित की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस