जागरण संवाददाता, चंदौली : मुख्यालय सहित जिले के कई स्थानों पर शुक्रवार को स्वामी विवेकानंद की जयंती युवा दिवस के रूप में मनाई गई। इस दौरान जिले के विभिन्न संगठनों की ओर से गोष्ठियां आयोजित कर उनकी जीवनी पर प्रकाश डाला गया। वहीं युवाओं को उनके विचारों से प्रेरणा लेकर देश की तरक्की में योगदान करने का आह्वान किया गया। देश उनके बताए रास्ते पर चलेंगे तो वही उनके प्रति सच्ची श्रद्धाजंलि है।

छात्रों ने निकाली रैली, संगठनों ने की गोष्ठी

मुगलसराय नगर में विभिन्न संगठनों ने स्वामी विवेकानंद जयंती पर गोष्ठी की। एनसीसी छात्रों ने रैली भी निकाली। श्री हनुमान व्यायामशाला समिति ने चंधासी के कुशवाहा बस्ती में स्वामी विवेकानंद जयंती मनाई। चेयरमैन संतोष खरवार ने कहा भारत एक ऐसा देश है जहां धर्म को लेकर कोई सवाल उठाने से पहले सौ बार सोचता है। 12 जनवरी 1863 को कोलकाता में जन्मे स्वामी विवेकानंद ने धर्म को विज्ञान की नजर से देखने का नया नजरिया दिया। रंजीत भट्टाचार्य, सतीश चंद्र वर्मा, प्रदीप जायसवाल, पंचम मौर्या, जयप्रकाश, दुर्गा यादव आदि उपस्थित रहे। अपना दल ने भी जयंती मनाई। ओमप्रकाश मौर्य, उदिय नारायण पटेल, अशोक भारती, कैलाश पटेल आदि उपस्थित थे। अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के सदस्यों विवेकानंद की जयंती मनाई। संजय श्रीवास्तव, नीरज वर्मा, संजीव कुमार, शिवजी, पीबी सिन्हा, अमित, अंजनी, राजेंद्र, अवधेश आदि उपस्थित थे।

स्वच्छ भारत के तहत निकली रैली

पूर्व मध्य रेलवे इंटर कालेज व 91 यूपी बटालियन एनसीसी के की ओर से युवा दिवस पर सर्वप्रथम स्वच्छ सोच स्वच्छ भारत के उद्देश्य से जागरूकता रैली निकाली गई। इसे प्राचार्य मेजर अमरेन्द्र ¨सह व उप प्राचार्या आर तिर्की ने हरी झंडी दिखा रवाना किया। वरीय अनुभाग अभियंता पीके दास व अनिल कुमार ने छात्र-छात्राओ को विभिन्न प्राविधिक जानकारी भी प्रदान की। लेफ्टिनेंट अशोक त्रिपाठी व सूबेदार मेजर दीपेन्द्र आले द्वारा छात्र-छात्रा सैनिकों को कंप्यूटर का भी प्रशिक्षण दिया। कमान अधिकारी कर्नल संजीव पुनिया व प्रशासनिक अधिकारी कर्नल टीएस कैरोन की देखरेख में एक ड्रील प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमें पवन कुमार ने प्रथम स्थान, आनंद कुमार ने द्वितीय स्थान व नीरज ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। कमान अधिकारी कर्नल संजीव पुनिया व प्रशासनिक अधिकारी कर्नल टीएस कैरोन ने संयुक्त रूप से विजेताओं को पुरस्कृत किया।

स्वामी जी के विचार हर काल में प्रासंगिक

चकिया : एकल अभियान ग्राम स्वराज मंच की ओर से चकिया काली जी मंदिर परिसर में स्वामी विवेकानंद जयंती मनाई गई। वक्ताओं ने कहा स्वामी विवेकानंद के विचार आज ज्यादा प्रसंगिक हो गए हैं। जीवनचर्या में आए बदलाव के बावजूद शास्वत जीवन जीने की कला आज भी प्राचीन ऋषिमुनियों व महापुरुषों ने जो तय किया है, वह वर्तमान परिवेश में भी अनुकरणीय है। इसके पूर्व मंच के संभाग प्रमुख पूर्वी उत्तर प्रदेश महेन्द्र ¨सह चंदेल, केंद्रीय सहमंत्री राघवेन्द्र शैनी ने स्वामी विवेकानंद जी के चित्र पर माल्यापर्ण व दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। संजय कुमार, प्रभु पाल, विनोद कुमार, अंगद मौर्य, अशोक कुमार, कुमारी देवी, कुशूल ता देवी,विरेन्द्र मौर्य, महेन्द्र ¨सह चंदेल, संजय कुमार आदि उपस्थित रहे।

सकलडीहा पीजी कालेज में स्वामी विवेकानंद की जयंती को युवा दिवस के रूप में मनाया गया। प्राचार्य डा. प्रमोद कुमार ¨सह ने कहा स्वामी विवेकानंद युग प्रवर्तक थे। हिन्दी विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष डा. संत कुमार त्रिपाठी ने कहा स्वामी विवेकानंद ने'उत्तिष्ठत जागृत प्राप्य वरान्निबाधित'की उक्ति देते हुए समाज को एक नई ²ष्टि प्रदान की। उप प्राचार्य डा. अरुण उपाध्याय, डा. दया निधि यादव, डा. विजेंद्र ¨सह, डा. प्रमोद पांडेय, डा. शिवसहाय ¨सह यादव व डा. पवन ओझा, विकास यादव व सत्यप्रकाश यादव आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस