जागरण संवाददाता, पीडीडीयू नगर, (चंदौली) : रेलवे इंटर कालेज नए सत्र से पठन-पाठन की नवीनतम तकनीक से जुड़ जाएगा। रेलवे ने विद्यालय में स्मार्ट क्लास की सुविधा शुरू कराने का निर्णय लिया है। इंटरमीडिएट के छात्रों को प्रोजेक्टर और कंप्यूटर के माध्यम से सिखाया और पढ़ाया जाएगा। छात्र न केवल खुद को तराश सकेंगे बल्कि कैरियर का चयन करने में भी उन्हें मदद मिलेगी।

रेलवे इंटर कालेज के कायाकल्प का खाका तैयार किया जा रहा है। इसकी शुरुआत स्मार्ट क्लास के जरिए होगी। पहले चरण में 11वीं और 12वीं के छात्रों को इससे जोड़ा जाएगा। प्रोजेक्टर और इंटरनेट के माध्यम से छात्रों को पढ़ाया जाएगा। उन्हें समसामयिक घटनाओं की जानकारी दी जाएगी तो शिक्षा व्यवस्था की नवीनतम तकनीकों के बारे में भी बताया जाएगा। 12वीं के बाद छात्र किस फील्ड में कैरियर बना सकते हैं इसके लिए भी समय-समय पर सुझाव दिए जाएंगे। इसके लिए रेलवे के कार्मिक विभाग ने योजना बना ली है। विद्यालय के एक कक्ष को सुसज्जित भी करा दिया गया है। हाल ही में 20 कंप्यूटर भी उपलब्ध कराए गए हैं, ताकि छात्र कंप्यूटर का ज्ञान भी अर्जित कर सकें। स्मार्ट क्लास की व्यवस्था नए सत्र से शुरू करा दी जाएगी।

800 छात्रों को मिलेगा लाभ

रेलवे इंटर कालेज में अध्ययनरत इंटरमीडिएट के लगभग 200 विद्यार्थियों को नए सत्र से स्मार्ट क्लास की सुविधा मिलने लगेगी। लेकिन धीरे-धीरे विद्यालय के 800 छात्र इस व्यवस्था से जुड़ जाएंगे। शुरूआत में विशेषज्ञ अध्यापक की कमी रोड़ा बन सकती है लेकिन इसे दूर करने को शासन में पत्राचार किया है। तब तक कंप्यूटर के जानकार शिक्षक छात्रों को पढ़ाएंगे। प्रधानाचार्य मेजर अमरेंद्र सिंह ने कहा स्मार्ट क्लास शुरू होने से छात्रों को काफी सहूलियत होगी। शीघ्र ही विशेषज्ञ अध्यापक की नियुक्ति की उम्मीद है।

..वर्जन..

'रेलवे इंटर कालेज में स्मार्ट क्लास शुरू की जाएंगी। नए सत्र से ये व्यवस्था शुरू होगी। प्रोजेक्टर के जरिए इंटरमीडिएट के छात्रों को पढ़ाया जाएगा।

-अजीत कुमार, वरीय मंडल कार्मिक अधिकारी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप