जागरण संवाददाता, चंदौली : बबुरी पुलिस ने गैंगस्टर व अपहरण में शामिल एक वर्ष से फरार 20 हजार के इनामी अपराधी को रविवार को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से तमंचा, दो जिदा कारतूस व बाइक बरामद हुई। वह 2018 में पीडीडीयू नगर में सभासद पुत्र के अपहरण में शामिल रहा। उसके खिलाफ पीडीडीयू नगर और बबुरी थाने में आ‌र्म्स एक्ट, गैंगस्टर, मारपीट और हत्या के प्रयास समेत अन्य मुकदमे दर्ज हैं। एएसपी आपरेशन वीरेंद्र यादव ने रविवार को पुलिस लाइन में मामले का राजफाश किया।

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपित मीरजापुर जिले के जमालपुर थाना के नगई गांव निवासी संतोष विश्वकर्मा काफी शातिर अपराधी है। वर्ष 2018 में पीडीडीयू नगर में सभासद पुत्र के अपहरण व फिरौती की घटना में शामिल रहा। घटना के बाद पुलिस ने कुछ आरोपितों को गिरफ्तार किया था। लेकिन मास्टर माइंड फरार हो गया। इसके अलावा पीडीडीयू नगर व बबुरी थाना क्षेत्र में अन्य आपराधिक घटनाओं को अंजाम दिया था। उस पर 20 हजार रुपये का इनाम घोषित था। जिले के टाप-10 अपराधियों की सूची में शामिल था। पुलिस को पिछले एक साल से उसकी तलाश थी। रविवार को बबुरी थाने की पुलिस कस्बा स्थित चंद्रप्रभा पुल के समीप वाहनों की चेकिग कर रही थी। इसी बीच एक व्यक्ति डंवक की तरफ से बाइक से आता दिखा। पुलिस को देख थोड़ी दूर पर रुक गया और भागने की कोशिश करने लगा। हालांकि पुलिसर्किमयों ने घेरेबंदी कर धर-दबोचा। तलाशी लेने पर 315 बोर का तमंचा व दो कारतूस बरामद किए गए। जिले के टाप-10 व 20 हजार के इनामी अपराधी की गिरफ्तारी को पुलिस बड़ी सफलता मान रही है। आरोपित से विस्तृत पूछताछ की गई है। इसमें पुलिस को अपराधियों के बाबत अहम सुराग मिलने की उम्मीद है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप