जागरण संवाददाता, पीडीडीयू नगर(चंदौली): पिछले एक सप्ताह से भारत संचार निगम लिमिटेड का नेटवर्क उपभोक्ताओं को खूब रूला रहा है। स्थिति यह हो गई है कि इंटरनेट सेवा ठप होने से सभी कामकाज भी ठप हो गए हैं। वैकल्पिक व्यवस्था करके लोग अपना कार्य पूरा कर रहे हैं। इससे एक घंटे के काम में लोगों को घंटे भर का समय लग जा रहा है। जीटीआर ब्रिज के नीचे जले भूमिगत केबल की ठीक करते समय बुधवार को एक कर्मचारी भी करेंट की चपेट में आ गया। विभाग का दावा है कि शीघ्र ही इंटरनेट सेवा बहाल कर दी जाएगी।

दरअसल बीते गुरुवार को अचानक बीएसएनएल का नेटवर्क ध्वस्त हो गया। काफी देर तक जब नेटवर्क नहीं आया तो उपभोक्ता परेशान हो गए। उपभोक्ताओं ने विभागीय अधिकारियों से संपर्क किया। उस समय अधिकारियों को भी गड़बड़ी कहां है, इस पता नहीं चल सका था। लगभग तीन दिनों के बाद यह पता चला कि जीटीआर ब्रिज के नीचे फेंके गए स्टेशन के कूड़े में आग लगा दी गई थी। इस वजह से वहां से गुजरा भूमिगत केबल जल गया। इसके बाद एसडीओ आनंद कुमार मौर्या ने तीन दिनों के बाद स्थिति सामान्य होने की बात कही थी लेकिन अभी तक इंटरनेट की व्यवस्था ठप है। इस कारण बीएसएनएल के मोबाइल व लैंडलाइन बेकार पड़े हैं। लोग काल ड्राप की समस्या से जूझ रहे हैं। इससे मोबाइल धारकों संग बैंक में नेटवर्किंग से जुड़े कार्य बाधित हो गए हैं। जबकि ब्राडबैंड की स्थिति खराब होने से बैंकों, कार्यालयों के काम भी प्रभावित हो रहे हैं। इस दु‌र्व्यवस्था को लेकर उपभोक्ताओं में आक्रोश है। शीघ्र पटरी पर आ जाएगी व्यवस्था

केबल को दुरुस्त करने के लिए दो कर्मचारियों को लगाया गया था। करेंट लगने से एक कर्मी घायल हो गया है। बताया कि युद्धस्तर पर कार्य कराया जा रहा है। शीघ्र ही व्यवस्था पटरी पर आ जाएगी।

आनंद कुमार मौर्या, एसडीओ, टेलीफोन

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप