जासं, चकिया (चंदौली) : हम बच्चों ने ठाना है बाल विवाह मिटाना है.., बंद करो भाई बंद करो, बाल विवाह बंद करो.., बाल विवाह है अपराध..। के नारे के साथ कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय की छात्राओं ने बुधवार को जन जागरण रैली निकाली। सामाजिक संगठन महिला समख्या की ओर से निकली रैली मुरारपुर, डोड़ापुर, दुबेपुर, दिरेहूं समेत कई गांव में भ्रमण कर लोगों को जागरूक किया।

तख्तियों पर लिखे बाल विवाह रोकने संबंधित स्लोगन के साथ छात्राओं का कारवां गांव में पहुंचा। लोगों को बाल विवाह पर अंकुश लगाने के लिए प्रेरित किया। महिला समाख्या की कार्यकर्ताओं ने गांव की महिलाओं, पुरुषों को जागरुक करते हुए बताया कि बाल विवाह से क्या नुकसान है। बाल विवाह करने वालों के खिलाफ न्यायालय सीधी कार्रवाई कर सकता है। वहीं कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की वार्डेन ममता समेत शिक्षिकाओं ने शिक्षा पर जोर देने का आह्वान किया। कहा बगैर शिक्षा के बाल विवाह जैसी कुरीतियों पर अंकुश नहीं लग सकता। जरूरत है हम बच्चियों को बेहतर शिक्षा की तालिम दें। ताकि एक परिवार के साथ दूसरा परिवार भी शिक्षित होकर खुशहाल बन सके। शशि बाला, रीता शर्मा, बिदा, साधना, सरिता समेत शिक्षिकाएं व महिला समाख्या से जुड़ी कार्यकर्ता मौजूद थीं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप