बुलंदशहर, जेएनएन: गांव सनौटा में शुक्रवार सुबह युवक की करंट लगने से मौत हो गई। वह साइकिल से एक किसान के खेत में ईख काटने के लिए गया था। हाईटेंशन लाइन का तार जमीन पर टूटा पड़ा था। तार से निकले करंट से युवक की मौके पर ही मौत हो गई। मुआवजा और नौकरी की मांग को लेकर गुस्साए ग्रामीणों ने सिकंदराबाद रोड पर जाम लगा दिया। प्रशासनिक अधिकारियों ने पीड़ित परिवार को पांच लाख का चेक सौंपकर जाम खुलवाया।

गांव सनौटा निवासी योगेंद्र (30) पुत्र रघुवर दयाल मजदूरी करता था। शुक्रवार सुबह करीब साढ़े छह बजे वह साइकिल से गांव में ही गुलावठी रोड पर सड़क किनारे एक किसान के खेत में ईख काटने के लिए गया था। रास्ते में सनौटा फीडर से कोटा, औरंगाबाद आदि गांवों को जा रही हाईटेंशन लाइन का तार टूटा पड़ा था। साइकिल समेत युवक करंट की चपेट में आकर बुरी तरह से झुलस गया और मौके पर ही दम तोड़ दिया। साइकिल भी जलकर राख हो गई। घटना से गुस्साए ग्रामीणों ने मुआवजे और परिवार के एक सदस्य को नौकरी दिलवाने की मांग को लेकर जाम लगा दिया। सूचना पर एसडीएम सिकंदराबाद, एएसपी गोपाल चौधरी, कोतवाल योगेन्द्र सिंह पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए और गुस्साए लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह मृतक परिजनों को दस लाख रुपये मुआवजा व नौकरी दिलाए जाने की मांग पर अड़े रहे। करीब पांच घंटे तक लोगों ने रोड जाम रखा। बाद में एडीएम प्रशासन रविद्र सिंह, एसपी सिटी अतुल श्रीवास्तव, एक्सईएन अमित कुमार भी मौके पर पहुंच गए। एडीएम ने मृतक की पत्नी को ऊर्जा निगम की ओर से पांच लाख रुपये का चेक सौंपा। साथ ही शासन स्तर से आर्थिक सहायता दिलाने का आश्वासन देकर जाम खुलवाया। मृतक के भाई सुधीर कुमार ने ऊर्जा निगम के जेई पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए थाने में तहरीर दी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस