बुलंदशहर, जेएनएन। उपराष्ट्रपति एम वैंकया नायडू की बेटी दीपा वेंकट ने नगर के परदादा-परदादी इंटर कालेज का दौरा कर वहां की व्यवस्थाओं की जानकारी ली। गरीब, बेसहारा बालिकाओं को निश्शुल्क शिक्षा देने के साथ आत्मनिर्भर बनाने के लिए कालेज संस्थापक द्वारा पिछले 20 वर्ष से लगातार प्रयास किया जा रहा है।

परदादा-परदादी इंटर कालेज की प्रसिद्धी दिल्ली के राष्ट्रपति भवन तक जा पहुंची है। इसका कयास इसी बात से लगाया जा सकता है कि मंगलवार को गुपचुप तरीके से उपराष्ट्रपति वैंकया नायडू की बेटी दीपा वेंकट ने स्कूल आकर वहां की छात्राओं से मुलाकात कीद। उन्होंने स्कूल के संस्थापक वीरेंद्र सिंह सैम से स्कूल को स्थापित करने से लेकर अब तक के सफर की जानकारी की। इस स्कूल में कम से कम चार वर्ष की बच्ची को प्रवेश दिया जाता है और स्कूल की ओर से ही निश्शुल्क शिक्षा, कपड़े, आवागमन की सुविधा, एक वक्त का भोजन दिया जाता है। स्कूल की शिक्षा का स्तर ऊंचा रखने के लिए प्रत्येक छात्रा को अंग्रेजी में पारंगत किया जाता है। इन सभी बातों से प्रभावित होकर दीपा वेंकट ने स्कूल का दौरा किया। उनके दौरे को सुरक्षा के मद्देनजर काफी गोपनीय रखा गया। यहां आकर दीपा वेंकट ने स्कूल की पूरी इमारत को देखा और वोकेशन के तौर पर बनाए जा रहे बैग प्रोडक्शन सेंटर का निरीक्षण भी किया। यहां की व्यवस्थाओं को देखकर उन्होंने कहा कि लगता नहीं है, कि देश में इस प्रकार की संस्थाएं चल रही है। उन्होंने संस्थापक सेम की प्रशंसा की। उन्होंने स्कूल की 50 छात्राओं को राष्ट्रपति भवन में बुलाकर उपराष्ट्रपति से मिलवाने का निमंत्रण दिया। इस मौके पर प्रधानाचार्य केके शर्मा, अतुल कुमार सिंह, संगीत कुमार सिंह, रेणुका गुप्ता, साजन जोश, उपेन्द्र राणा, अंकुर गर्ग, रीना, प्रिया आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस