बुलंदशहर, जेएनएन। पीर बियावनी गांव में शुक्रवार को जुमे की सामूहिक नमाज के विरोध को लेकर देर रात दो संप्रदाय आमने-सामने आ गए। वहां पहुंची पुलिस पर एक संप्रदाय के लोगों ने पथराव कर दिया। हालांकि पुलिस इससे इन्कार कर रही है। देर रात पुलिस ने ग्राम प्रधान की तहरीर पर 26 आरोपितों पर मुकदमा दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी को दबिश दी। गांव में फोर्स तैनात कर दी गई है।

कोरोना महामारी को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने मस्जिदों में सामूहिक नमाज पर रोक लगा रखी है। इसके बावजूद शुक्रवार को पीर बियावनी गांव स्थित एक मकान के अहाते में नमाज के लिए लोग एकत्र हुए। ग्राम प्रधान व कुछ लोगों ने इसका विरोध किया। प्रधान हरवीर सिंह ने आरोप लगाया कि आरोपितों ने उनके साथ अभद्रता की और हमले का प्रयास करते हुए उनके घर में घुस आए। पुलिस के वहां पहुंचने से पहले आरोपित भाग गए। देर शाम ग्राम प्रधान ने 16 नामजद और दस अज्ञात लोगों पर रिपोर्ट दर्ज करा दी। देर रात गांव में फिर से टकराव की स्थिति उत्पन्न हो गई। सूचना पर वहां पहुंची पुलिस पर एक समुदाय ने पथराव कर दिया। पथराव की सूचना पर वहां पहुंची पुलिस फोर्स ने आरोपितों के घरों पर दबिश दी, लेकिन वे नहीं मिले। पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में ले रखा है।

इनका कहना है..

पुलिस गांव में नामजद आरोपितों के यहां दबिश देने गई थी। पुलिस के वहां पहुंचने से पहले आरोपित भाग गए। पुलिस टीम पर पथराव नहीं हुआ। गांव में फोर्स तैनात कर दी है।

- दिलीप सिंह, कोतवाली निरीक्षक, सिकंदराबाद।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस