जेएनएन, बुलंदशहर। औरंगाबाद में बुलंदशहर बस स्टैंड के पीछे मां चामुंडा मंदिर के पूर्व दिशा वाले मार्ग को ठेकेदार द्वारा ऊंचा नीचा बनाने व पक्षपात रवैया अपनाने के विरोध में श्रद्धालुओं ने हंगामा खड़ा करते हुए निर्माण कार्य को रुकवा दिया। बाद में पूर्व चेयरमैन राजकुमार लोधी के नेतृत्व में लोगों ने ईओ को ज्ञापन देकर मार्ग निर्माण कार्य नियमानुसार कराने की मांग रखी।

नगर पंचायत औरंगाबाद द्वारा बालका मार्ग से लेकर जहांगीराबाद मार्ग तक सड़क का निर्माण कार्य एक ठेकेदार द्वारा कराया जा रहा है। लोगों का कहना है कि इस मार्ग पर दो प्राचीन मंदिर स्थापित है। मार्ग बनाने में नगर पंचायत और ठेकेदार पक्षपात रवैया अपना रहे है और घटिया सामग्री का प्रयोग किया जा रहा है। इसको लेकर बुधवार की दोपहर पूर्व चेयरमैन राजकुमार लोधी, व्यापारी नेता सचिन वर्मा, पूर्व सभासद बाबी गुर्जर दर्जनों श्रद्धालुओं के साथ निर्माण स्थल पर पहुंचे और हंगामा खड़ा कर दिया। लोगों का कहना है कि मंदिर के सामने से मार्ग को क्षमता से अधिक ऊंचा उठाकर बनाया जा रहा है। जिससे बारिश का गंदा पानी मंदिर परिसर में घुस जाएगा। जिस कारण श्रद्धालुओं को भारी परेशानी होगी। जबकि दूसरे समुदाय के कब्रिस्तान के सामने लेवल से काम किया जा रहा है। हंगामा होता देख ठेकेदार ने निर्माण कार्य रोक दिया। बाद में उन्होंने नगर पंचायत कार्यालय पर पहुंचकर ईओ नवीन कुमार सिंह को ज्ञापन दिया। ईओ ने उन्हें समस्या के समाधान कराने का आश्वासन देकर संतुष्ट किया तब जाकर लोग शांत हो सके। प्रधान की फर्जी मोहर बनाने पर तीन के खिलाफ मुकदमा

सिकंदराबाद। गांव तिलबेगमपुर प्रधान मुनाजरी पत्नी साबिर ने बताया कि गांव में कुछ लोग जन सेवा केन्द्र के नाम पर फर्जीवाड़ा कर रहे है। मामले का राजफाश जब हुआ तब ब्लाक में गांव के व्यक्ति द्वारा उनकी मोहर लगाकर एक प्रार्थना पत्र दिया। जिस पर फर्जी मोहर व हस्ताक्षर उनके थे और समस्या के समाधान को लिखा गया था। जिसके बाद उन्होंने प्रकरण की जांच कराई तो मामले की जानकारी मिली। ग्राम प्रधान ने गांव के अदनान उर्फ ओसामा पुत्र शकील, आजाद पुत्र आस मोहम्मद, नईम पुत्र बाबू पर गांव में ही जन सेवा केन्द्र संचालित कर फर्जी दस्तावेज व मोहर के साथ आधार कार्ड, पहचान पत्र बनवाने की तहरीर कोतवाली में दी। कोतवाली पुलिस ने ग्राम प्रधान की सूचना पर अदनान को गिरफ्तार कर लिया। जबकि अन्य की तलाश में पुलिस जुटी है।

Edited By: Jagran