बुलंदशहर, जेएनएन। लाकडाउन के दौरान अब जरूरी आपूर्तियों की वस्तुओं की दुकानों के खोलने और बंद का समय निर्धारित किया गया है। ऐसे में तीन घंटे सुबह और शाम दूध वितरण के लिए छूट मिलेगी। इस दौरान दूध की दुकानें खोली जाएंगी। जबकि किराना, फल, सब्जी, खाद और बीज की दुकानों को सिर्फ सुबह के समय ही तीन घंटे के लिए खोलने के प्रशासन ने निर्देश दिए हैं। उलंघन पर कार्रवाई की चेतावनी दी है।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण की रोकथाम के लिए अब सरकार सतर्कता बरत रही है। दस मई की सुबह सात बजे तक लाकडाउन लगा कर लोगों को घरों में रोकने की कवायद की जा रही है। इस दौरान दैनिक आपूर्ति की वस्तुओं की दुकानों को खोलने और बंद करने के लिए प्रशासन ने समय सारिणी जारी की है। जिसके तहत दूध की दुकान और दूध वितरण सुबह सात से दस बजे तक और शाम पांच से रात्रि आठ बजे तक किया जा सकेगा। जबकि किराना, फल सब्जी, खाद, बीज की दुकान सुबह आठ से पूर्वाह्न 11 बजे तक ही खोली जाएंगी। दुकानों पर कोविड-19 से बचाव की गाइडलाइन का पालन करना होगा। ग्राहकों को शारीरिक दूरी बनानी होगी। मास्क, ग्लब्स पहनने होंगे। सैनिटाइजर से हाथ साफ करने होंगे। दुकानदारों को भी गाइडलाइन के नियमों का पालन करना होगा। न तो शासन के आदेश का खौफ, न ही कोरोना का डर

गुलावठी में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए शासन प्रशासन कुछ भी कर ले, लेकिन ये लापरवाह लोग बाजार में जाने से नहीं मानेंगे। सरकार की ओर से संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए की जा रही मेहनत पर लापरवाह भीड़ पानी फेरने पर लगी हुई है। लाकडाउन के बाद भी प्रतिदिन सुबह से लेकर शाम तक बाजारों में उमड़ रही लोगों की भीड़ सड़कों पर बिना मास्क के बेरोकटोक घूम रहे है। बाजारों में लाकडाउन का खुला उल्लंघन किया जा रहा है, लेकिन पुलिस प्रशासन की ओर से कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा है। देखने में आ रहा है कि लोग कोरोना प्रोटोकाल का पालन करने से बच रहे है। सब्जी, फल, दूध आदि की दुकानों पर लोगों की भीड़ पहुंच रही है। प्रशासन का आदेश है कि बाजार में सब्जी, फल आदि की दुकानों पर शारीरिक दूरी का पालन हो लेकिन दुकानों पर शारीरिक दूरी का उल्लंघन हो रहा है। जिले में कोरोना केस भी रोजाना तेजी से बढ़ रहे है यदि ऐसे ही लोग लापरवाही करते रहे तो संक्रमण ओर तेजी से फैल सकता है।