जेएनएन, बुलंदशहर। जहांगीराबाद नगर का सेंट जोसेफ स्कूल जिले का एकमात्र आईसीएसई बोर्ड का स्कूल है। हाईस्कूल व इंटर में कुल 205 छात्र छात्राओं का परीक्षाफल घोषित हुआ था जिसमें दोनों ही कक्षाओं में छात्राएं ही अव्वल स्थान पर रहीं। विद्यालय के शत प्रतिशत परिणाम से छात्र-छात्राएं के साथ साथ उनके माता पिता व शिक्षक भी खुश हैं। परीक्षा परिणाम आने के बाद सभी मेधावियों विद्यार्थियों को प्रधानाचार्य ने अभिभावकों सहित विद्यालय में बुलाकर उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दीं। छात्र-छात्राओं ने विद्यालय परिसर में ही जमकर जश्न मनाया।

शैक्षिक सत्र पर कोरोना महामारी की नजर पड़ने के बाद विद्यार्थियों की पढाई बुरी तरह प्रभावित हो गई थी। इसी के चलते शासन की ओर से परीक्षाओं को रद्द कर दिया गया था। छात्र-छात्राओं के कक्षा 9 एवं 11 तथा प्री-बोर्ड के साथ साथ अ‌र्द्धवार्षिक परीक्षाओं के अंक बोर्ड को भेजे गए थे। उन्हीं नम्बरों के आधार पर इस बार हाई स्कूल व इंटरमीडिएट के छात्र छात्राओं को नंबर दिए गए हैं। विद्यालय के प्रधानाचार्य फादर जिम्मी जॉस ने बताया कि हाईस्कूल में भव्यांशिका गुप्ता ने 490 अंकों के साथ 98 प्रतिशत अंक हासिल कर जिला टॉप किया है। जबकि दूसरे स्थान पर रजत चौधरी और कुश कंसल ने 97.6 प्रतिशत अंक लाकर संयुक्त रूप से बाजी मारी है। मानस गोयल ने 97.4 प्रतिशत अंकों के साथ जिले में तीसरा स्थान प्राप्त किया है।

इंटरमीडिएट में पलक अग्रवाल ने 99.5 फीसदी अंक लाकर जिला में अव्वल स्थान हासिल किया है। शिवा भारद्वाज व गौरी वशिष्ठ ने 97.75 प्रतिशत अंकों के साथ संयुक्त रूप से दूसरा स्थान हासिल किया है। 96.75प्रश. अंकों के साथ वंश गुप्ता ने जिले में तीसरा स्थान प्राप्त किया है। इस सत्र में विद्यालय में हाईस्कूल में कुल 133 छात्र-छात्राएं और इंटरमीडिएट में 72 छात्र-छात्राएं पंजीकृत थे। शत प्रतिशत रिजल्ट के साथ सभी छात्र छात्राएं परीक्षा में उत्तीर्ण हुए हैं। परीक्षा परिणाम के बाद सभी विद्यार्थी झूम उठे। सभी छात्र छात्राओं ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर जश्न मनाया। प्रधानाचार्य ने सभी मेधावी छात्र-छात्राओं को मिठाई खिलाकर बधाई दी है।

इंटरव्यू टॉपर छात्र-छात्राओं का

हाईस्कूल टॉपर भव्यांशिका, कुश,रजत इंजीनियर व मानस सीए बनना चाहते हैं।

संवाद सूत्र,जहांगीराबाद: हाई स्कूल में जनपद में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली भव्यांशिका गुप्ता सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना चाहती है। भव्यांशिका के पिता पंकज गुप्ता डिग्री कॉलेज में प्रवक्ता व माता नीतू गुप्ता गृहिणी हैं। भव्यांशिका ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता पिता व शिक्षकों को दिया है। तीन भाई बहनों में भव्यांशिका दूसरे नम्बर की संतान हैं और उन्हें किताबें पढ़ने तरह बैडमिटन खेलने का शौक है।

दूसरे स्थान पर रहने वाले कुश कंसल आगे चलकर इंजीनियर बनना चाहते हैं। कुश के पिता तुषार कंसल कपड़ा व्यापारी हैं तथा माता शिखा कंसल गृहिणी हैं। कुश ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता पिता व गुरुजनों को दिया है।

संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर रहने वाले रजत चौधरी आगे चलकर इंजीनियर बनना चाहते हैं। रजत के पिता अजीत कुमार एक अध्यापक हैं तथा माता सीमा देवी गृहिणी हैं। रजत को कबड्डी का शौक है। रजत ने अपनी सफलता का श्रेय अपने माता पिता व गुरुओं को दिया है।

हाई स्कूल में जनपद में तीसरा स्थान हासिल करने वाले मानस गोयल भविष्य में सीए बनना चाहते हैं। मानस के पिता सुमित गोयल व्यापारी हैं तथा शिल्पी गृहिणी हैं।

इंटरमीडिएट टॉपर पलक डॉक्टर,गौरी प्रवक्ता,शिवा सेना में अफसर व वंस इंजीनियर बनना चाहते हैं।

संवाद सूत्र,जहांगीराबाद : आईसीएसई बोर्ड की इंटरमीडिएट की परीक्षा में जनपद में प्रथम स्थान हासिल करने वाली पलक अग्रवाल डॉक्टर बनना चाहती हैं। पलक के पिता गिरीश अग्रवाल दवा व्यापारी हैं तथा माता छाया अग्रवाल गृहिणी हैं। अपने माता पिता की दूसरे नम्बर की संतान पलक को बैडमिटन खेलने का शौक है। अपनी सफलता का श्रेय पलक ने अपने माता पिता व शिक्षकों को दिया है।

द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाली छात्रा गौरी वशिष्ठ आगे चलकर पीएचडी कर डॉक्टरेट की उपाधि हासिल कर प्रवक्ता बनना चाहती हैं। गौरी के पिता अजय शर्मा पेशे से किसान हैं तथा माता रेनू शर्मा गृहिणी हैं। गौरी को किताबें पढने का शौक है। अपनी सफलता का श्रेय गौरी अपने माता पिता व शिक्षकों को देती हैं।

संयुक्त रूप से द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले शिवा भारद्वाज आगे चलकर सेना में अफसर बनकर देश की सेवा करना चाहते हैं। शिवा के पिता मुकेश कुमार भारद्वाज पेशे से किसान व माता सरला शर्मा गृहिणी हैं। शिवा को किताबें पढ़ने व क्रिकेट खेलने का शौक है। शिवा ने अपनी सफलता का श्रेय अपने शिक्षकों व माता पिता को दिया है।

वंश गुप्ता ने जनपद में तीसरा स्थान हासिल किया है। आगे चलकर वंश कंप्यूटर इंजीनियर बनना चाहते हैं। वंश के पिता ड्यूक गुप्ता पेशे से अनाज मंडी में कारोबारी हैं तथा माता कामिनी गुप्ता गृहिणी हैं। वंश को किताबें पढ़ने का शौक है। वंश ने अपनी सफलता का श्रेय अपने दादाजी किशनलाल गुप्ता, चाचा डॉ दीपक गुप्ता व अपने शिक्षकों को दिया है।

हाई स्कूल टॉप 10 सूची

1- भव्यांशिका गुप्ता 490 नम्बर 98त्‍‌न

2- रजत चौधरी 488 नम्बर 97.6त्‍‌न

2-कुश कंसल 488 नम्बर 97.6त्‍‌न

3-मानस गोयल 487 नम्बर 97.4त्‍‌न

4-रिकी सैनी 486 नम्बर 97.2त्‍‌न

5-चंचल माहुर 484 नम्बर 96.8त्‍‌न

6-मानिका गर्ग 482 नम्बर 96.4त्‍‌न

7- अक्षय भारद्वाज 481 नम्बर 96.2त्‍‌न

8-पुनीत शर्मा 480 नम्बर 96त्‍‌न

9-²ष्टि राघव 478 नम्बर 95.6त्‍‌न

10-आदित्य अग्रवाल 477 नम्बर 95.4त्‍‌न

इंटरमीडिएट की टॉप 10 सूची

1-पलक अग्रवाल 398 नम्बर 99.5त्‍‌न

2-शिवा भारद्वाज 391 नम्बर 97.75त्‍‌न

2-गौरी वशिष्ठ 391 नम्बर 97.75त्‍‌न

3-वंश गुप्ता 387 नम्बर 96.75त्‍‌न

4-अरुण शर्मा 386 नम्बर 96.5त्‍‌न

4-तनीषा गर्ग 386 नम्बर 96.5

5-कुमारी विनी 383 नम्बर 95.75

6-यश अग्रवाल 381 नम्बर 95.25

7-कशिश वर्मा 376 नम्बर 94

8-अभिषेक कुमार 374 नम्बर 93.5त्‍‌न

8-दिव्या 374 नम्बर 93.5त्‍‌न

9-अखिल शर्मा 372 नम्बर 93

10-मनप्रीत कौर 370 नम्बर 92.5त्‍‌न

Edited By: Jagran