बुलंदशहर, जेएनएन। कोरोना वायरस से लड़ाई लड़ने के लिए जिले के लोगों ने बुधवार को लॉकडाउन का पालन किया है। वहीं, जिम्मेदारों ने भी अपनी जिम्मेदारी को गंभीरता पूर्वक निभाया। शहर के हर चौराहे, बाजार, गली मोहल्ले में पुलिस लगाई हुई थी। पहले दिन लोगों को जागरूक करते हुए बताया कि कोरोना को हराना है तो घर में ही रहना होगा। इसलिए शहर में दोपहर तक तो सड़कों पर लोग दिखे, लेकिन दोपहर के बाद क‌र्फ्यू जैसे हालात हो गए। उधर, जो लोग सड़क पर आने से बाज नहीं आ रहे थे। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की गई। दैनिक जागरण टीम ने बुधवार को शहर में भ्रमण कर पूरी जानकारी ली। आइए बताते हैं कि कहां किस स्थान पर किस समय बुधवार को कैसा रहा माहौल.. स्थान : काला आम चौराहा

समय : 11:00 बजे

इस दौरान यहां पर सब सूना पड़ा था। सड़क पर केवल पुलिसकर्मी ही दिख रहे थे। इक्का दुक्का वाहन चल भी रहे थे तो उनसे सड़क पर आने का कारण पूछा जा रहा था। कारण जानने के बाद ही आगे जाने दिया जा रहा था। यदि कोई बेवजह अपने घर से बाहर निकला था तो उसे समझाकर बताया जा रहा था कि वह अपने घर में रहे। चेतावनी दी जा रही थी कि दोबारा आया तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। स्थान : अंसारी रोड चौक व बाजार

समय : 11:30 बजे

यहां पर दो मेडिकल स्टोर खुले थे। जिन पर काफी संख्या में ग्राहक खड़े थे। पुलिस भी चौराहे पर बैठी थी, लेकिन भीड़ कम कैसे करनी है। इसका रास्ता पुलिस को भी नहीं सूझ रहा था। हालांकि मेडिकल स्टोर संचालक ग्राहकों से बार-बार निवेदन कर रहे थे कि वह भीड़ न लगाए। एक-एक करके ही दवाई ले। इसके अलावा पूरा का पूरा बाजार बंद था। सड़क पर भी इक्का-दुक्का वाहन ही दिख रहे थे। स्थान : डीएवी फ्लाइओवर

समय : 11:45

शिकारपुर, खुर्जा जाने वाले डीएवी फ्लाईओवर और उसके नीचे से गुजरने वाला एक भी शख्स नहीं दिख रहा था। यहां पर क‌र्फ्यू जैसा आलम था। सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस जरूर लगाई गई थी। हालांकि यहां से एक आटो और एक ई-रिक्शा निकले तो पुलिस ने तुरंत उन्हें पकड़ लिया। बाद में इसलिए छोड़ दिया, क्योंकि उनके अंदर सब्जी और दूध ले जाया जा रहा था। फ्लाईओवर के आसपास एक भी दुकान नहीं खुली थी। स्थान : स्याना अड्डा

समय : 12 बजे

इस दौरान 12 बज चुके थे। यहां पर कुछ पुलिसकर्मी दुकानों को बंद करा रहे थे। क्योंकि, सब्जी, राशन, दूध आदि की दुकानें खुलने का समय 12 तक ही था। वहीं, देखा गया कि कुछ देर के बाद स्याना अड्डा चौराहा पूरी तरह से खाली हो गया। पुलिसकर्मी जो वाहन आ रहे थे, उन्हें शिकारपुर बाईपास से निकाल रहे थे। उन्हीं वाहनों को जाने की अनुमति थी, जिनके अंदर मरीज थे या फिर कोई और समस्या से परेशान था। डीएम-एसएसपी ने जाना पूरे जिले का हाल

जिलाधिकारी रविंद्र कुमार और एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि वह सुबह के सात बजे अपने कैंप कार्यालयों से लॉकडाउन का पालन कराने के लिए निकल गए थे। ताकि कोई भी अधिकारी लापरवाही न बरते। काला आम चौराहे पर उन्होंने फोर्स को भी संबोधित किया। इस दौरान बताया गया कि वह पहले दिन किसी भी व्यक्ति के साथ बदतमीजी नहीं करेंगे। धैर्य रखकर ही समझाएंगे और बताएंगे कि घर पर रहने से क्या फायदे हैं। जिले की सभी सीमाओं पर फोर्स तैनात

एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि जिले की सभी सीमाओं को सील कर दिया है। यहां पर पुलिस बल लगा दिया है। किसी को भी न तो बाहर से आने दिया जा रहा है और न ही शहर से बाहर जाने दिया जा रहा है। उनका कहना है कि ऐसा केवल कोरोना से बचाव के लिए किया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस