बुलंदशहर, जेएनएन। पुलिस ने चार दिन पूर्व कोतवाली क्षेत्र के गांव डबकौरा के एक ईख के खेत से बरामद धर्मपाल ऊर्फ भूरा के शव का पर्दाफाश कर दिया है। धर्मपाल की हत्या उसके ही दोस्त धर्मसिंह ने रस्सी से गला दबाकर की थी। पुलिस ने आरोपी दोस्त को पकड़कर जेल भेज दिया है।

कोतवाली परिसर में पत्रकारों को जानकारी देते हुए सीओ अनूपशहर अतुल कुमार चौबे ने बताया कि स्थानीय पुलिस ने विगत 17 अक्टूबर को कोतवाली क्षेत्र के गांव डबकौरा के एक ईख के खेत से शव बरामद करके पोस्टमार्टम को भेज दिया था। रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट नहीं हुआ था। शव की शिनाख्त नरसैना थाना क्षेत्र के गांव सबदलपुर निवासी सरदार सिंह के पुत्र धर्मपाल ऊर्फ भूरा के रूप में हुई थी। इस घटना को मृतक के पिता सरदार सिंह ने हत्या बताते हुए कोतवाली क्षेत्र के गांव बांसुरी निवासी धर्मसिंह ऊर्फ धर्मू पुत्र श्योराज सिंह के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

सीओ ने बताया कि गश्त के दौरान पुलिस ने आरोपी धर्मसिंह को उस समय बुलंदशहर बस स्टैंड के पास से गिरफ्तार कर लिया, जब वह कहीं भागने वाला था। आरोपी धर्मसिंह ने बताया कि विगत 12 अक्टूबर को उसने ही धर्मपाल की हत्या की थी। हत्या से पूर्व दोनों ने जमकर शराब भी पी थी। धर्मपाल की हत्या धर्म सिंह ने रस्सी से गला दबाकर की थी और उसके शव को एक ईख के खेत में फेंक दिया था। पुलिस की मौजूदगी में आरोपी धर्म सिंह ने बताया कि उसके धर्मपाल से दोस्ताना संबंध थे जिसके चलते वह अक्सर उसके घर आता जाता रहता था। इसी बीच करीब पांच माह पूर्व उसकी पत्नी की बीमारी के चलते मौत हो गई। पत्नी की मौत के बाद धर्मपाल का उसके घर आना जाना और बढ़ गया। उसने घर आने के लिए मना भी किया था, लेकिन वह नहीं माना। इसके बाद उसने वारदात को अंजाम दिया। हत्या करने के बाद आरोपित ने शव को ईख के खेत में फेंक दिया था, वही उसकी बाइक को 11 मील चौकी क्षेत्र में लावारिस छोड़ दिया था। बाइक को भी बरामद कर लिया गया है। वही आरोपी धर्मपाल सिंह को जेल भेज दिया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप