मेरठ,जेएनएन। गगोल रोड पर साइकिल से दूध लेकर आ रहे हाईस्कूल के छात्र को तेजरफ्तार ऑल्टो ने टक्कर मार दी। छात्र की मौत के बाद आक्रोशित भीड़ ने ऑल्टो को आग के हवाले कर दिया। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर भीड़ को भगाया। ऑल्टो के स्वामी की तलाश की जा रही है।

लखनऊ की फूलबाग कालोनी निवासी राजकुमार पिछले छह साल से मेरठ के गगोल रोड स्थित कताई मिल पर परिवार के साथ रहते हैं। यहां वह रबड़ कंपनी में ऑपरेटर का काम करते हैं। उनका चौदह साल का बेटा विशाल शर्मा कक्षा दस की पढ़ाई कर रहा था। रविवार को विशाल शर्मा कताई मिल से साइकिल पर दूध लेने गया था। दूध लेकर लौटते समय गगोल रोड पर ऑल्टो ने पीछे से टक्कर मार दी। इसमें विशाल गंभीर रूप से घायल हो गया। हादसे को अंजाम देकर ऑल्टो छोड़कर चालक कूदकर फरार हो गया। परिवार के लोग घायल को उठाकर पहले कैलाशी अस्पताल गए, उसके बाद केएमसी ले गए, जहां चिकित्सकों ने विशाल को मृत घोषित कर दिया। हादसे के बाद लोगों में आक्रोश भड़क गया। देखते ही देखते भीड़ ने ऑल्टो को आग लगा दी। तभी परतापुर पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। हंगामा करने वाले लोगों को दौड़ाया। चौकी पर पुलिस होती तो नहीं जलती कार

परतापुर थाने की फोर्स काशी गांव में लगाई गई है। कताई मिल चौकी प्रभारी के क्षेत्र में ही काशी गांव आता है। चौकी बंद होने की वजह से भीड़ को देखकर ऑल्टो का चालक भाग गया। यदि पुलिस चौकी पर होती तो आक्रोशित भीड़ ऑल्टो को आग नहीं लगा पाती। कप्तान ने बताया कि इस मामले में भी चौकी प्रभारी और फैंटम पर तैनात पुलिसकर्मियों की लापरवाही उजागर हुई है। चौकी प्रभारी पर कार्रवाई भी कर दी गई है। इंस्पेक्टर आनंद मिश्रा ने बताया कि हादसे को अंजाम देने वाले चालक की तलाश की जा रही है। बच्चे का शव पुलिस ने कब्जे में लेकर मर्चरी में रखवा दिया।

---

इकलौता था विशाल

बेटे की पढ़ाई कराने के लिए ही राजकुमार का परिवार लखनऊ से मेरठ में शिफ्ट हुआ था। इकलौते बेटे की हादसे में मौत के बाद परिवार टूट गया है। राजकुमार और उनकी पत्नी बदहवास हो गई। साथ रह रहे मामा ललित शर्मा ने बताया कि हादसे से पूरा परिवार बिखर गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप