जेएनएन, बुलंदशहर :

मुख्यमंत्री गेहूं खरीद योजना का लाभ किसानों को अब नियमों के सीमित दायरे में मिलेगा। भले ही सरकार ने 15 जून से गेहूं खरीद की तिथि बढ़ाकर 22 जून कर दी हो लेकिन इसका लाभ सीमित किसानों को ही मिलेगा। जनपद में अब 114 क्रय केंद्रों पर गेहूं खरीद नहीं होगी। मात्र उन्हीं केंद्रों पर गेहूं खरीद होगी, जो मंडी में हैं और गेहूं सुरक्षित रखने की सुविधा उपलब्ध है। एक नियम ओर भी है कि मंडी में हो अथवा ग्रामीण क्षेत्र में भारतीय खाद्य निगम बढ़ी तिथि में गेहूं खरीद नहीं कर सकेगा। क्योंकि इसका पोर्टल ब्लॉक कर दिया गया है। जिले में करीब दो लाख हैक्टेयर जमीन में गेहूं उत्पादन होता है और पांच लाख किसान इस खेती से जुड़े हैं। वित्तीय वर्ष में बंपर गेहूं खरीद हुई है और डेढ़ लाख मीट्रिक टन का आंकड़ा छू लिया है। 15 जून को गेहूं खरीद की अंतिम तिथि थी लेकिन किसानों के पास अभी भी 50 से 60 हजार मीट्रिक टन गेहूं बिक्री के लिए बकाया है। किसान गेहूं तौल के लिए रोजाना हो-हल्ला कर रहे हैं। क्रय केंद्रों पर बारदाने और अन्य सुविधाओं की कमी है। गोदामों भर चुके हैं और बोरे खाली नहीं बचे हैं। ऐसे में सरकार ने स्थानीय जनप्रतिनिधियों की मांग के मद्देनजर गेहूं खरीद की तिथि तो बढ़ा दी लेकिन संशोधन कम होने के कारण दूसरे ही दिन बैकफुट पर आ गई है। नियमों में बदलाव कर दिए गए हैं और इसमें किसान फंसकर रह गए हैं।

....

गेहूं खरीद में ये हुए बदलाव

-गेहूं खरीद मात्र 22 जून तक होगी।

-मंडी में स्थित खाद्य निगम, मंडी समिति और पीसीएफ के ही क्रय केंद्रों पर ही तौल चलेगी।

-मंडी से बाहर स्थित क्रय केंद्रों पर चाहे किसी भी एजेंसी का हो गेहूं तौल नहीं होगी।

-किसी भी क्षेत्र का किसान किसी भी क्रय केंद्र पर गेहूं तौल करा सकेगा।

-भारतीय खाद्य निगम की वेबसाइट ब्लाक कर दी गई है यह केंद्र खरीद नहीं कर सकेगा।

...

यह है क्रय केंद्रों की स्थिति

-खाद्य निगम : 15

-पीसीएफ : 95

-मंडी समिति : 03

-भाखानि : 04

...

इन्होंने कहा..

जिले में भारतीय खाद्य निगम को छोड़कर मंडी परिसर में स्थित अन्य क्रय केंद्रों पर गेहूं खरीद होगी। सात मंडियों में 21 क्रय केंद्र हैं जिनपर 22 जून तक गेहूं खरीद होगी।

-जेया करीम अहमद

जिला विपणन अधिकारी।

Edited By: Jagran