बीबीनगर, जागरण टीम: इन दिनों शादियों का सीजन चल रहा है और नए जोड़े अपना घर बसा रहे हैं। शादियों के इस सीजन में जहां लोग साधारण तरीके और अपनी परंपराओं के अनुसार ब्याह रचाते हैं तो कुछ लोग इसे यादगार बनाने के लिए अजब-गजब कार्यक्रम करते हैं, जिसे देख लोग भी हैरत में पड़ जाते हैं। कुछ ऐसा ही उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले में देखने को मिला, जहां एक दुल्हन हेलीकाप्टर में सवार होकर अपनी ससुराल पहुंची।

दुल्हन का स्वागत करने के लिए ससुरालीजनों ने ढोल-नंगाड़े और बैंड-बाजे की व्यवस्था की थी। जैसे ही हेलीकाप्टर दुल्हन लेकर गांव में बनाए गए हेलीपैड पर उतरा तो यहां जोर-शोर से उसका स्वागत किया गया है। हेलीकाप्टर से आने वाली दुल्हन को देखने के लिए आस-पास के सैकड़ों लोग कौतूहलवश हेलीपैड के पास पहुंचे थे। इनमें अधिकतर महिलाएं और बच्चे शामिल थे।

दरअसल, हेलीकाप्टर से आने वाली यह दुल्हन जिले के बीबीनगर क्षेत्र के गांव केशोपुर सठला के निवासी एडवोकेट व प्रापर्टी डीलर सुनील कुमार की है, जो अपने मायके मोदीनगर ब्याह रचाकर यहां पहुंची। इस दौरान मौजूद महिलाओं ने दुल्हन के स्वागत में मंगल गीत गाया। दुल्हन करुणा भी पेशे से फैशन डिजाइनर हैं। मोदीनगर निवासी करुणा के चाचा नीरज प्रजापति कांग्रेसी नेता हैं।

स्याना राेड पर बनाया गया था हेली पैड

शनिवार को गाजियाबाद के मोदीनगर से दुल्हन की विदाई के बाद नव युगल हेलीकाप्टर से केशोपुर सठला पहुंचा। हेलीकाप्टर से दुल्हन आने की सूचना पर स्याना रोड पर चामंड मंदिर के सामने एक खेत में तैयार किए गए हेलीपैड के पास सैकड़ों क्षेत्रवासियों की भीड़ एकत्र हो गई। करीब डेढ़ बजे जैसे ही आसमान में हेलीकाप्टर दिखा लोगों का उत्साह चरम पर पहुंच गया। 

उड़नखटोले से आई दुल्हन की चहुंओर चर्चा

ढोल नगाड़ों के साथ नव युगल का स्वागत किया गया। मौके पर पुलिस, एंबुलेंस व फायर ब्रिगेड का इंतजाम रहा। सुनील कुमार एडवोकेट के पिता रामकुमर प्रजापति गांव में आरा मशीन संचालक हैं। उड़नखटोले से दुल्हन आने की चहुंओर चर्चा हो रही है।

मोदीनगर में छूटे पुलिस के पसीने

वहीं, मोदीनगर संवाददाता के अनुसार, दुल्हन की विदाई के दौरान बड़ी संख्या में लोग दूल्हा-दुल्हन को देखने के लिए पहुंचे। बड़ी संख्या में बच्चे भी वहां पहुंचे थे। व्यवस्था को बनाने में पुलिस के पसीने छूट गए। फोटो लेने के लिए लोगों में होड़ लगी थी।

पुलिस द्वारा प्रशासनिक स्तर पर भी सुरक्षा के इंतजाम किए गए थे। हेलीकॉप्टर की अनुमति जांच के बाद देर रात जारी हुई थी। नीरज प्रजापति ने बताया कि हेलीकॉप्टर मुहैया कराने वाली कंपनी को किराए के रूप में छह लाख रुपये अदा किए गए हैं।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट