बुलंदशहर, जेएनएन : नरौरा परमाणु केंद्र के बाहर एलपीजी गैस से भरा कैप्सूल पलटने से नंदपुर गांव में दहशत का माहौल शनिवार को दिन भर छाया रहा। सुबह के समय अचानक पुलिस गांव पहुंची और गांव खाली करने का एलान किया। मामला जानकारी में आते ही ग्रामीणों ने अपने बच्चों को स्कूल से लाने के लिए दौड़ लगाई। बाद में ग्रामीण परिवार सहित अपने खेतों पर पहुंच गए और दिनभर कैप्सूल के हटने का इंतजार करते रहे।

डेढ़ हजार की आबादी वाले गांव नंदपुर के निवासी शनिवार दिनभर दहशत में रहे। सुबह आठ बजे ग्रामीणों को सड़क पर गैस से भरा कैप्सूल पलटने से की जानकारी हुई। कुछ ग्रामीण मौके पर पहुंचे, लेकिन पुलिस ने उन्हें कैप्सूल तक जाने से रोक दिया। गैस का रिसाव लगातार जारी रहने से पुलिस कर्मी गांव की और दौड़े और घर-घर जाकर गांव खाली करने और आग न जलाने के लिए कहा। मामले की जानकारी होने से कई ग्रामीण ऐसे थे जो खेत पर जाने से पहले सुबह का नाश्ता करने ही बैठे थे, दहशत में आ गए।

पुलिस ने बंद कराया स्कूल

इस बीच पुलिस ने स्कूल को भी बंद करा दिया। ग्रामीण अपने बच्चों को घर ले गए। बाद में ग्रामीणों ने अपने घर का ताला लगाया और परिवार के साथ अपने खेतों की और रवाना हो गए। कुछ ग्रामीण अपने साथ अपने मवेशियों को भी ले गए। ग्रामीण दोपहर तक कैप्सूल के सड़क से हटने का इंतजार करते रहे और में गैस रिसाव बंद होने की जानकारी पर कुछ ग्रामीण अपने घर आ गए। जबकि कुछ शाम तक खेतों पर रहे। ग्राम प्रधान नन्ही देवी ने बताया कि गांव के बाहर पलटे गैस से भरे कैप्सूल को लेकर ग्रामीण घबराए हुए हैं।

----

लोगों के चेहरे पर दिखी दहशत

गैस से भरा कैप्सूल पलटने की जानकारी होने पर ग्रामीणों ने इसे पहले हलके में लिया। कुछ ग्रामीण पुलिस के आने से पहले कैप्सूल तक पहुंच गए और काफी देर वहीं जमे रहे। बाद में पुलिस पहुंचने और गैस रिसाव शुरू होने पर ग्रामीणों में हड़कंप की स्थिति बन गई। मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने बताया कि इस दौरान सड़क पर आ रहे कई वाहन चालक अनियंत्रित होकर आपस में टकराने से भी बाल-बाल बचे। ग्रामीणों को मौके से दूर कर रहे पुलिस कर्मी भी काफी घबराए हुए थे।

-----

पड़ोसी गांवों में फैली चर्चा

नरोरा-रामघाट मार्ग पर गैस से भरा कैप्सूल पलटने को लेकर दिनभर चर्चाओं का बाजार गर्म रहा। पड़ोसी गांवों में भी दिनभर तमाम तरह की चर्चाएं होती रही। ग्रामीण आपस में परमाणु केंद्र के बाहर कैप्सूल पलटने और आग लगने की संभावनाओं को लेकर आपस तर्क-वितर्क करते रहे। पड़ोसी गांवों के कुछ तमाशबीन ग्रामीण कैप्सूल देखने के लिए मौके पर भी पहुंचे। लेकिन पुलिस ने ग्रामीणों को दूर से ही भगा दिया। उधर, कुछ युवकों ने अपने मोबाइल से कैप्सूल की वीडियो बनाने और सेल्फी लेने का प्रयास भी किया। जिन्हें पुलिस कर्मियों ने मौके से दौड़ा लिया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस