जेएनएन ,बुलंदशहर : ऊर्जा निगम में आएं दिन कोई न कोई जिन्न बाहर आता ही रहता है। जिससे निगम घोटाले और गबन के मामलों में सुर्खियों में बना रहता है। अनूपशहर में 47.17 लाख रुपये की गड़बड़ी उजागार होने पर अफसरों ने 11 कर्मचारी व अफसरों के खिलाफ चार्जशीट तैयार कर एमडी दफ्तर भेज दी है।

डिबाई डिवीजन में हुए 56 लाख रुपये की जांच अभी तक पूरी भी नहीं हो पाई है। इसी बीच अनूपशहर में 2017 से बिजली बिलों में गड़बड़ी का मामला उजागार हुआ है। पिछले दिनों एसडीओ सुभाष चंद ने मामला पकड़ में आने पर कंप्यूटर आपरेटर नितिन के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया था। जिसमें अवैध तरीके से उनकी आईडी द्वारा बिल कम करने का आरोप है। अनूपशहर में 2017 से बिल में बड़ा खेल चल रहा था। जिसमें 798 उपभोक्ताओं के बिल में 47.16 लाख रुपये की हेराफेरी कर राजस्व को चूना लगाया गया है। मामला मुख्य अभियंता तक पहुंचने पर जांच शुरु की गई। जिसके बाद पूरा मामला खुलकर सामने आया। अब अफसरों ने तत्कालीन एक्सईएन और एसडीओ समेत बाबुओं के खिलाफ चार्जशीट तैयार कर एमडी को भेजी गई है। बताया जा रहा है कि एसडीओ के पद पर तैनात रहे सत्यम कुमार ने विभाग से त्याग पत्र भी दे दिया है। अफसरों ने इनके खिलाफ भी चार्जशीट तैयार कर भेजी है।

..

इनके खिलाफ चार्जशीट

तत्कालीन एक्सईएन वीके राजपूत, नीरज कुमार, सुनील कुमार, विनोद कुमार, एसडीओ विकास सिंह, सत्यम कुमार, सुभाष चन्द, कपिल भारद्वाज के खिलाफ चार्जशीट तैयार की गई है। इसके अलावा बाबू राजेन्द्र शर्मा, सीपी गौतम, साहेब आलम के खिलाफ चार्जशीट तैयार कर भेजी गई है।

..

आईडी के लिए अफसर जिम्मेदार

निगम के अफसरों को आईडी पासवर्ड दिए गए हैं। बताया गया है कि बिना ओटीपी के आईडी लॉगिन नहीं हो सकती है। अब हैरानी इस बात की है कि क्या अफसर रोजाना इसकी जांच नहीं करते थे, जबकि अफसरों की बिना इजाजत के आईडी लॉगिन नहीं की जा सकती। अफसरों की कार्यशैली

..

इन्होंने कहा..

एक्सईएन व एसडीओ समेत 11 कर्मचारियों के खिलाफ चार्जशीट तैयार कर एमडी को भेज दी गई है। एमडी से निर्देश मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

- सुनील कुमार, कार्यवाहक, मुख्य अभियंता ऊर्जा निगम

Edited By: Jagran