बुलंदशहर, जेएनएन। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की गिरफ्तारी के विरोध में बुधवार को जिले के कांग्रेसियों ने काली पट्टी बांधकर और मौन धारण करके विरोध किया। प्रदेश अध्यक्ष की रिहाई की मांग और प्रवासी श्रमिकों के खाते में दस-दस हजार रुपये देने की मांग को लेकर राष्ट्रपति को ई-मेल से ज्ञापन भेजा।

जिला कार्यालय पर आयोजित बैठक में जिलाध्यक्ष टुक्कीमल खटीक ने कहा कि योगी सरकार किसान और मजदूरों की विरोधी सरकार है। यूपी सरकार नफरत और बदले की राजनीति से काम कर रही है। प्रवासी श्रमिक छोटे बच्चे और गर्भवती महिलाओं के साथ पैदल चलकर घर पहुंचे हैं। सरकार ने खुद श्रमिकों के घर जाने और खाने की व्यवस्था नहीं की। जब कांग्रेस ने मदद करनी शुरू की तो प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया। यूथ के पूर्व जिलाध्यक्ष कैफी फैसल ने कहा कि महासचिव प्रियंका गांधी लाचार श्रमिकों का दर्द महसूस कर रही हैं। एआइसीसी सदस्य श्योपाल सिंह ने कहा कि एक हजार बसें श्रमिकों के लिए बार्डर पर खड़ी रही। लेकिन सरकार ने ड्रामा कर मना करा दिया। पूर्व विधायक बंशी पहाड़िया और पूर्व जिलाध्यक्ष सुभाष गांधी ने मौन धारण क विरोध किया। नाफे अंसारी, प्रशांत वाल्मीकि, पोरूष शर्मा, मनीष चतुर्वेदी, दुष्यंत गुप्ता, राकेश भाटी, किशन चौधरी, सुभाष चेयरमैन, मन्ना कुरैशी आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस