बुलंदशहर, जेएनएन। स्याना में तीन दिसंबर को गोवंश के अवशेष मिलने को लेकर भड़के बवाल के बाद पकड़े गए गोकशी के चार आरोपितों को पुलिस अब निर्दोष बता रही है। इनको जेल से निकालने के लिए पुलिस ने कागजी कार्रवाई भी शुरू कर दी है। अधिकारी दावा कर रहे हैं कि पकड़े गए चारों आरोपित महाव गांव की घटना में शामिल नहीं थे।

गोकशी का मुकदमा दर्ज कराया था

बता दें कि तीन दिसंबर को बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज ने सात आरोपितों पर गोकशी का मुकदमा दर्ज कराया था। पांच दिसंबर को पुलिस ने नामजद दो आरोपितों समेत दो अन्य को गोकशी के आरोप में जेल भेज दिया था। अब मंगलवार को तीन आरोपितों के हत्थे चढ़ने के बाद पुलिस पूर्व में पकड़े गए चारों आरोपितों को निर्दोष बता रही है।

आरोपित घटना में शामिल नहीं : एसपी सिटी

एसपी सिटी अतुल कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि पूर्व में पकड़े गए चारों आरोपित महाव गांव में हुई गोकशी की घटना में शामिल नहीं थे, जिन्हें जेल से निकालने के लिए कार्रवाई की जा रही है। बता दें कि पांच दिसंबर को पुलिस ने साजिद अली पुत्र मोहम्मद साबिर अली निवासी नयाबांस, सरफुद्दीन पुत्र कमरूदीन निवासी नयाबांस, बन्ने खान पुत्र नन्हे खान निवासी खलिया कल्याणपुर और आसिफ पुत्र यामीन निवासी दिल्ली दरवाजा औरंगाबाद को गोकिशी के आरोप में जेल भेजा था।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021