बुलंदशहर, जागरण टीम: शिकारपुर की एक कॉलोनी में एक पार्टी के नेता के मकान से सोमवार की शाम जोर-जोर से रोने-पीटने की आवाज आने लगी। किसी अनहोनी की आशंका को दृष्टिगत रखते हुए आसपास के लोग भागदौड़ कर मकान के अंदर पहुंचे। लोगों ने देखा कि घर के मुखिया नेताजी सुबक-सुबक कर रो रहे थे। उनके स्वजन नेताजी को चुप कराने में लगे थे। 

लोगों ने पूछा आखिर माजरा क्या है? पता लगा कि नगर पालिका परिषद सीट के आरक्षण की घोषणा हुई। इसमें शिकारपुर नगर पालिका परिषद चेयरमैन की सीट अन्य पिछड़ा वर्ग महिला में आरक्षित हुई है। इसलिए नेताजी रो- रोकर घर को भरे हुए थे। 

समर्थकों के साथ चल रहा था दौर-ए-दावत

उन्होंने चेयरमैन पद हेतु चुनाव लड़ने के सब्जबाग दिमाग में संजोए थे, जिसके लिए पिछले दिनों से तैयारियों में जुटे हुए थे। समर्थकों के साथ दौर-ए-दावत चल रहे थे, लेकिन आरक्षण की घोषणा के बाद नेताजी के सभी अरमानों पर पानी फिर गया। 

लोगों ने समझाया- अगली बार देख लेना

उनसे अपना दुख रोके से नहीं रोका गया और रो-रोकर दुख स्वजनों के समक्ष व्यक्त किया। हालांकि बाद में लोगों ने उन्हें समझाया कि अगली बार देख लेना। नेताजी सामान्य महिला सीट होने की जुगत में पत्नी को चुनाव मैदान में उतारने की फिराक में थे।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट