बुलंदशहर, जेएनएन। मौसम का बदले मिजाज के चलते गुरुवार को आसमान में बदरा छाए रहे, लेकिन बिन बरसे ही आगे बढ़ गए। ऐसे में कभी धूप, कभी छांव की स्थिति बनी रही। इससे तापमान में गिरावट हुई और गर्मी का असर कम रहा। हालांकि मौसम विभाग ने अभी दो दिन और हल्की से मध्यम बरसात होने की संभावना जताई है।

दरअसल, सितंबर के अंत में भारी बरसात हुई। इसके बाद आसमान शुष्क होने लगा। नीचे आया पारा उछाल मारने लगा। अक्टूबर के पहले सप्ताह में मौसम का मिजाज फिर बिगड़ गया है। मौसम विभाग ने चार अक्टूबर से आगामी पांच दिनों तक बरसात का पूर्वानुमान जताया। आसमान में घटा छाकर बदरा बरसने का संकेत देती रही। 

बादलों के बीच चलती रही सूर्यदेव की आंख-मिचौली

पांच अक्टूबर को विजयादशमी पर दोपहर बाद बूंदाबांदी शुरू हो गई। जिले में कही तेज तो कही हल्की बरसात हुई। हालांकि यह बूंदाबांदी कुछ समय बाद थम गई, लेकिन आसमान में घटाएं छाई रही। गुरुवार को दिन निकलने पर बादलों के बीच सूर्यदेव की आंख-मिचौली चलती रही। मौसम रह-रहकर बूंदाबांदी होने का संकेत देता रहा, लेकिन शाम तक बरसात नहीं हो सकी। अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 23 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

19 किलोमीटर तक पहुंच सकती है हवा की रफ्तार 

मौसम विभाग के अनुसार अभी दो दिनों तक बरसात का असर बना है। इस दौरान अधिकतम तापमान 27 से 34 डिग्री सेल्सियस एवं न्यूनतम तापमान 22 से 25 डिग्री सेल्सियस के बीच अलग अलग दिनों में रहने की संभावना है। 

सुबह के समय सापेक्षिक आद्रता 75 से 98 प्रतिशत और दोपहर के समय सापेक्षिक आद्रता 44 से 62 प्रतिशत तक पहुंच सकती है। 8 से 19 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवा चलने की संभावना बनी है। इस दौरान आसमान में बादल भी छाए रहेंगे।

इन्होंने कहा…

कृषि विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी रामानंद पटेल ने कहा, अभी आठ अक्टूबर तक जिले के सभी ब्लाक क्षेत्र में हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना बनी हुई है। हवा की गति बढ़ी रहने के आसार रहेंगे।

Edited By: prashant Gaud

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट