बुलंदशहर, जेएनएन। जिले की हवा में जहर घोलने वाली सिकंदराबाद औद्योगिक क्षेत्र की तीन फैक्ट्रियों पर मंगलवार को प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की टीम ने कार्रवाई की। जांच के लिए पुलिस फोर्स के साथ पहुंची टीम ने तीनों फैक्ट्रियों को नोटिस जारी किया। साथ ही तीनों पर एक लाख 93 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी जीएस श्रीवास्तव ने बताया कि प्रदूषण को लेकर एनजीटी सख्त है। एनजीटी के आदेशों के मुताबिक बोर्ड के अधिकारी लगातार छापेमारी कर कार्रवाई कर रहे हैं। प्रदूषण फैलाने की सूचना पर सोमवार की शाम पुलिस फोर्स के साथ सहायक अभियंता अजय कुशवाहा, आशुतोष चौहान और जेई संतोष कुमार के साथ औद्योगिक क्षेत्र में गए। निरीक्षण के दौरान मैसर्स श्री सांई इंटरप्राइजेज, मेसर्स सलोनी क्वायर और मैसर्स सनत प्रोडक्ट्स में वायु प्रदूषण होता पाया गया। इन तीनों फैक्ट्रियों से प्रदूषित प्रकृति का उत्सर्जन होता पाया गया। प्रदूषण नियंत्रण अधिनियमों के अनुपालन ने किए जाने पर मेसर्स सलोनी क्वायर पर 68 हजार 750 रुपये, मैसर्स सनत प्रोडक्ट्स पर 50 हजार रुपये और मैसर्स श्री सांई इंटरप्राइजेज 75 हजार रुपये जुर्माना लगाया गया है। क्षेत्रीय अधिकारियों ने बताया कि सनत आयुर्वेदिक दवा बनाती है, जबकि सालोनी क्वायर गद्दे और श्री सांई पुराने टायरों का तेल निकालती है। किसी भी फैक्ट्री में प्रदूषण होता मिलेगा तो कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस