जेएनएन, बिजनौर। गोविद नगर में आक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी की सूचना से प्रशासन में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने सिलेंडरों से भरा वाहन कब्जे में ले लिया। गोविद नगर के ही कुछ जिम्मेदार लोगों ने जनसेवार्थ पांच सिलेंडर लेने की बात कहकर मामले का पटाक्षेप किया।

गोविद नगर में स्थित मामा बैटरीज प्रतिष्ठान पर रविवार को एक प्राइवेट वाहन पहुंचा। इसमें आक्सीजन सिलेंडर भरे थे। प्रतिष्ठान पर सिलेंडर उतरना शुरू हुए, तो इसकी सूचना प्रशासन तक पहुंच गई। कई भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी मामले को लेकर इंटरनेट मीडिया पर संदेश पोस्ट किए। आनन-फानन में पुलिस मौके पर पहुंची और आक्सीजन सिलेंडर से भरा वाहन कब्जे में ले लिया। मामले का पता लगते ही गोविद नगर के ही जिम्मेदार लोग एकत्र हो गए।

नजीबाबाद गुरुद्वारा प्रबंध कमेटी के प्रधान नरेंद्र सिंह वाधवा ने बताया कि कोरोना महामारी में आक्सीजन की किल्लत को देखते हुए पिछले एक पखवाड़े से उन्होंने जरूरतमंदों को आक्सीजन सिलेंडर नि:शुल्क उपलब्ध कराने की सेवा शुरू कर रखी है। उत्तराखंड से आक्सीजन सिलेंडर लाने वाले से उनका संपर्क बना हुआ है। प्रत्येक फेरे पर वह जो सिलेंडर उपलब्ध करा पाता था, वह पीड़ित परिवार से चिकित्सक का संदर्भ पत्र, आधार कार्ड और खाली सिलेंडर लेकर उसे नि:शुल्क दे रहे थे। थाना प्रभारी दिनेशचंद गौड़ ने भी मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि जांच के बाद सिलेंडर से भरा वाहन छोड़ दिया गया।

बाइक चोरी

शेरकोट नगर के मोहल्ला काजियान निवासी शबाहत हुसैन पुत्र रशीद ने बताया कि उन्होंने रविवार सुबह घर के बाहर बाइक खड़ी कर दी थी। जब वह कुछ देर बाद घर के बाहर आया तो उस की बाइक वहां से किसी ने चोरी कर ली। पीड़ित ने इस संबंध में पुलिस को तहरीर देते हुए कार्रवाई की मांग की है।